Home /News /himachal-pradesh /

उड़ता ऊना : तेजी से बढ़ रहा है चिट्टे का कारोबार, डेढ़ साल में दर्ज हुए 55 मामले

उड़ता ऊना : तेजी से बढ़ रहा है चिट्टे का कारोबार, डेढ़ साल में दर्ज हुए 55 मामले

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

पिछले कुछ सालों में ही ऊना जिला में चिट्टे का प्रभाव बढ़ा है. जहां 2014 से 2017 तक चार सालों में पुलिस ने चिट्टे के 33 मामले पकड़े थे. वहीं 2018 से लेकर अब तक डेढ़ साल में 55 मामले दर्ज किए जा चुके है.

हिमाचल की वादियों में चिट्टे (हेरोइन) का कारोबार चरम पर पहुंचता जा रहा है. पंजाब के साथ लगे होने के कारण इस गोरखधंधे का ऊना में सबसे ज्यादा असर देखने को मिलता है. चिट्टे के इस बढ़ते कारोबार ने पुलिस के साथ-साथ आम लोगों की भी चिंता बढ़ा दी है. यह 'सफेद जहर' अब तक कई युवाओं की जिंदगी छीन चुका है. पिछले कुछ सालों में ही ऊना जिला में चिट्टे का प्रभाव बढ़ा है. जहां 2014 से 2017 तक चार सालों में पुलिस ने चिट्टे के 33 मामले पकड़े थे. वहीं 2018 से लेकर अब तक डेढ़ साल में 55 मामले दर्ज किए जा चुके है.

प्रदेश की युवा पीढ़ी नशे की दलदल में धसते जा रही है. बदलते परिवेश के साथ-साथ नशे की किस्में भी बदली है. सबसे पहले चरस, अफीम और चूरा-पोस्त जैसे नशे देखने को मिलते थे, उसके बाद मेडिकल नशे सामने आये, लेकिन अब युवा पीढ़ी सिंथेटिक ड्रग्स में से चिट्टे के चंगुल में फंस चुकी है. चिट्टे का सबसे अधिक असर हिमाचल के सीमावर्ती क्षेत्रों में देखने को मिलता है.

ऊना पहले नंबर पर-

नशा प्रवाभित जिलों में सबसे पहला नाम ऊना का आता है. ऊना का बहुत ज्यादा क्षेत्र पंजाब के साथ सटा हुआ है. ऊना में पिछले कुछ समय में ही करीब आधा दर्जन युवा नशे के कारण अपनी जान से हाथ धो बैठे है. यहां चिट्टे के साथ-साथ नशे के मामलों में खासी बढ़ोतरी दर्ज की गई है. 2014 से लेकर 2017 तक चार सालों में मादक द्रव्य अधिनियम के तहत 177 मामले दर्ज करके 233 लोगों को जेल की सलाखों के पीछे भेजा गया. वहीं 2018 से लेकर अब तक यानि डेढ़ साल में पुलिस ने नशे के 141 मामले दर्ज करके 189 नशे के सौदागरों को पकड़ने में सफलता हासिल की है.

बड़े कारोबारी पकड़ से दूर-

वहीं अगर चिट्टे (हेरोइन) की बात की जाये तो ऊना में 2014 से 2017 तक 33 मामले सामने आये थे. 2018 से लेकर जून 2019 तक चिट्टे के 55 मामले जिला ऊना के विभिन्न थानों में दर्ज हो चुके है. वहीँ, पुलिस के अधिकारी इस मामले पर बड़े-बड़े आंकड़े पेश कर लगातार कार्रवाई की बात कर रहे है. लेकिन कहीं न कहीं नशे के गोरखधंधे में संलिप्त बड़ी मछलियां आज भी पुलिस के हाथों से कोसों दूर है. एएसपी ऊना विनोद धीमान ने कहा कि पुलिस नशे के विरुद्ध विशेष अभियान चलाये हुए है जिसके तहत पुलिस को सफलता भी मिल रही है.

पंजाब पुलिस के साथ मिलकर कार्रवाई-

एएसपी ऊना भी मानते है कि ऊना जिला में चिट्टे की सप्लाई मुख्य रूप से पंजाब से ही हो रही है. क्योंकि ऊना जिला की अधिकतर सीमा पंजाब के साथ सटी हुई है. वहीँ ऊना पुलिस द्वारा चिट्टे के धंधे में नाइजीरियन युवकों को भी पकड़े गया है. एएसपी ऊना ने कहा कि ऊना पुलिस लगातार पंजाब पुलिस के साथ संयुक्त अभियान चलाकर भी चिट्टे पर कार्रवाई कर रही है.

ये भी पढ़ें- हमीरपुर : शादी का झांसा देकर शख्स ने 25 साल की युवती के साथ किया रेप

ये भी पढ़ें-बद्दी में 2.32 ग्राम चिट्टे के साथ एक युवक गिरफ्तार, पुलिस जांच में जुटी

Tags: Drugs Problem, Himachal pradesh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर