खाकी पर तीसरी आंख का पहरा, पुलिस कर्मियों की हर गतिविधि होगी रिकॉर्ड

थाने में बने बंदी गृहों में बंद होने वाले महिला व पुरुष कैदियों पर भी नजर रहेगी.

Amit Sharma | News18Hindi
Updated: March 14, 2018, 1:51 PM IST
खाकी पर तीसरी आंख का पहरा, पुलिस कर्मियों की हर गतिविधि होगी रिकॉर्ड
Una Police Station of Himachal Pradesh.
Amit Sharma | News18Hindi
Updated: March 14, 2018, 1:51 PM IST
सदर थाना ऊना में अब खाकी पर 24 घंटे तीसरी आंख का पहरा रहेगा. पुलिस मुख्यालय के निर्देशों के बाद ऊना सदर थाना में पांच CCTV कैमरा लगाए गए हैं. ये कैमरे सदर थाना के मेन गेट, जांच अधिकारी कक्ष, मुंशी कक्ष और महिला व पुरुष बंदी गृहों में लगाए गए हैं.

इनमें पुलिस और अपराधियों की पल-पल की हरकत को रिकॉर्ड करेंगे. पुलिस की ऊना सदर थाना के बाद जिला के अन्य थाना चौकियों में भी CCTV
कैमरा स्थापित करने की योजना है.

हिमाचल प्रदेश के कोटखाई में हुआ सूरज हत्याकांड हो या थाने में होने वाले अन्य मसलो कि शिकायतें. इनसे सबक लेकर पुलिस ने अब खाकी को ही तीसरी नजर के सामने रखने के निर्देश दिए हैं. इन आदेशों पर अमल शुरू हो गया है. पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर पायलट प्रोजेक्ट के तहत ऊना थाना में 5 सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए हैं. कैमरो से थाने के अंदर और बाहर की हर गतिविधि रिकॉर्ड होगी, जिसे नियमित रूप से थाना प्रभारी व आला अधिकारी देख सकेंगे.

यहां-यहां लगाए गए हैं कैमरे
यह कैमरे थाने के अलग-अलग स्थानों पर लगाए गए हैं. एक थाने के मुख्य द्वार, एक महिला बंदी गृह में, एक पुरुष बंदी गृह में, एक आईओ रूम में और एक मुंशी कार्यालय में लगाया गया है. ऐसे में थाने में होने वाली सब गतिविधियां कैमरे की नजर में रहेगी. माना जा रहा है कि पुलिस थाने के भीतर किसी भी प्रकार की अनहोनी ना हो, इसको लेकर यहां पुलिस सतर्क है.

वहीं दूसरी ओर पुलिस के काम में पारदर्शिता लाने में भी यह तीसरी आंख सहायक सिद्ध होगी. अक्सर पुलिस पर थाने के अंदर मारपीट जैसे आरोप लगते रहते हैं. ऐसे में इन कैमरों की मदद से कई गतिविधियों पर रोक लगेगी. वहीं, थाने में बने बंदी गृहों में बंद होने वाले महिला व पुरुष कैदियों पर भी नजर रहेगी.
Loading...

काम और अधिक पारदर्शिता से होगा : एएसपी
एएसपी ऊना अमित शर्मा ने बताया कि पुलिस मुख्यालय से मिले निर्देशों के तहत ऊना थाना में सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए हैं. इन के माध्यम से सब पर नजऱ रहेगी. काम और अधिक पारदर्शिता से हो पाएगा.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->