पूर्व सीएम हुड्डा ने स्पीकर को लिखा पत्र, कहा-हाईकोर्ट के फैसले के बाद बहाल करें कालका MLA की सदस्यता

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने हरियाणा विधानसभा  अध्यक्ष से कालका विधायक प्रदीप चौधरी की सदस्यता बहाल करने की मांग की है.

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष से कालका विधायक प्रदीप चौधरी की सदस्यता बहाल करने की मांग की है.

हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने विधानसभा अध्यक्ष से कालका विधायक प्रदीप चौधरी की सदस्यता बहाल करने की मांग की है. इस संबंध में विधानसभा अध्यक्ष के नाम एक पत्र भी लिखा है. हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट 19 अप्रैल को निचली अदालत के उस फैसले पर रोक लगा चुकी है जिसके आधार पर सदस्यता खत्म की गई है.

  • Share this:

चंडीगढ़. पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupinder Singh Hooda) ने हरियाणा विधानसभा (Haryana Assembly) अध्यक्ष से कालका (Kalka) विधायक प्रदीप चौधरी (Pradeep Chaudhary) की सदस्यता बहाल करने की मांग की है. इस संबंध में विधानसभा अध्यक्ष के नाम एक पत्र भी लिखा है.

पत्र में उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की हाईकोर्ट (High Court) 19 अप्रैल को निचली अदालत के उस फैसले पर रोक लगा चुकी है जिसके आधार पर प्रदीप चौधरी की सदस्यता खत्म की गई है. 26 अप्रैल को खुद प्रदीप चौधरी विधानसभा अध्यक्ष (Speaker) को मिलने पहुंचे थे. उन्होंने कोर्ट के आदेश की कॉपी दी थी. लेकिन इतने दिन के बाद भी उनकी सदस्यता बहाल नहीं की गई है.

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हाई कोर्ट के आदेश के बाद प्रदीप चौधरी की सदस्यता बहाली में विधानसभा अध्यक्ष को देरी नहीं करनी चाहिए. कोरोना (Corona) महामारी के दौर में किसी हलके को जनप्रितिनिधि विहीन रखना उचित नहीं है.

सदस्यता बहाली में हो रही देरी कालका की जनता और एक जनप्रतिनिधि के अधिकारों के प्रति उदासीनता है. इसलिए विधानसभा अध्यक्ष से आग्रह है कि वो जल्द ही इसका संज्ञान लें और कालका विधायक की सदस्यता बहाल करें.
बताते चलें कि हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट द्वारा प्रदीप चौधरी की सजा पर रोक लगाए जाने के बाद यह रास्ता साफ हुआ है. 30 जनवरी को नालागढ़ (सोलन) कोर्ट ने सड़क पर जमा लगाने और सरकारी कार्य में बाधा डालने के एक मामले में प्रदीप चौधरी सहित करीब एक दर्जन लोगों को 3 साल की सजा सुनाई थी.

नालागढ़ कोर्ट के फैसले के बाद हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता (Gian Chand Gupta) ने 31 जनवरी को प्रदीप चौधरी की विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी थी. विधानसभा ने इसका नोटिफिकेशन जारी करके चुनाव आयोग को सूचित कर दिया था.

इतना ही नहीं, राज्य सरकार (State Government) कालका में उपचुनाव की सिफारिश भी चुनाव आयोग (Election Commission) को कर चुकी है, लेकिन अभी तक आयोग ने उपचुनाव का कोई कार्यक्रम तय नहीं किया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज