अपना शहर चुनें

States

Himachal Panchayat Election Result 2021: ऊना जिले पर BJP का कब्जा, नेता प्रतिपक्ष के इलाके में कांग्रेस तीन सीटें हारी

ऊना की बात की जाए तो जहां कुल तीन जिला परिषद वार्डों में दो पर भाजपा ने कब्जा किया है,
ऊना की बात की जाए तो जहां कुल तीन जिला परिषद वार्डों में दो पर भाजपा ने कब्जा किया है,

Una News: नेता विपक्ष के गृह विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस (Congress) को तीन सीटों पर हार का सामना करना पड़ा है. वहीं कैबिनेट मंत्री वीरेंद्र कंवर के गृह विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस ने दो जिला परिषद वार्डों में जीत दर्ज की है.

  • Share this:
ऊना.  तीन चरणों में सम्पन्न हुए पंचायतीराज (Panchayat Chunav) संस्थाओं के चुनावों में भाजपा समर्थित प्रत्याशियों की जीत का दावा करने वाली भाजपा (BJP) ने ऊना जिला परिषद में भी अपना कब्जा जमाया लिया. जिला ऊना के 17 जिला परिषद वार्डों में से भाजपा समर्थित 9 प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है . वहीं कांग्रेस के खाते में सिर्फ 5 सीटें ही आई है. जबकि शिवसेना के एक, एक कांग्रेस के बागी और एक आजाद प्रत्याशी ने जिला परिषद का चुनाव जीता है. नेता विपक्ष के गृह विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस को तीन सीटों पर हार का सामना करना पड़ा है. वहीं कैबिनेट मंत्री वीरेंद्र कंवर के गृह विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस ने दो जिला परिषद वार्डों में जीत दर्ज की है.

नगर निकाय चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद भाजपा ने जिला परिषद के चुनावों में भी अपना दबदबा कायम रखा है. जिला परिषद ऊना के 17 वार्डों में से 9 पर भाजपा ने अपनी जीत का परचम लहराया है. जबकि कांग्रेस के खाते 5, अन्य के खाते में 3 जिला परिषदों की सीटें आई है. अगर नेता विपक्ष मुकेश अग्रिहोत्री के हल्के की बात की जाए, तो कांग्रेस को हार का मुंह देखना पड़ा है. मुकेश अग्रिहोत्री के क्षेत्र के 4 वार्डों में से तीन पर भाजपा ने बढ़त बनाई है. वहीं यह परिणाम कैबिनेट मंत्री वीरेंद्र कंवर के क्षेत्र में भी भाजपा के लिए झटके वाला है. जहां भाजपा के दो प्रत्याशियों को हार का मुंह देखना पड़ा है. जहां कुल तीन जिला परिषद क्षेत्रों में से कृष्ण पाल मोमन्यार वार्ड में भाजपा की लाज बचा पाए है, जबकि धुंधला व बसाल वार्ड में भाजपा को करारी शिकस्त मिली है.

बीजेपी का कब्जा बरकरार



अगर ऊना की बात की जाए तो जहां कुल तीन जिला परिषद वार्डों में दो पर भाजपा ने कब्जा किया है, जबकि एक पर शिवसेना समर्थित प्रत्याशी की जीत है. ऊना सदर में कांग्रेस के विधायक सतपाल रायजादा को झटका लगा है, वे एक भी जिला परिषद की सीट जीत नहीं पाए है. चिंतपूर्णी की बात करें, तो जहां कुल चार वार्ड है. इनमें कांग्रेस को सिर्फ एक सीट से ही संतोष करना पड़ा है, जबकि कांग्रेस के एक बागी प्रत्याशी आजाद जीतने में सफल हुए हैं.  भाजपा ने जहां दो सीटों पर जीत दर्ज की है, वहीं गगरेट क्षेत्र के स्थानीय विधायक राजेश ठाकुर की मुशिकलें जिला परिषद चुनाव ने बढ़ा दी है. भाजपा सिर्फ संघनई वार्ड जीत पाई है, जबकि कांग्रेस ने अंबोटा को जीता है. जहां भाजपा व कांग्रेस एक-एक सीट पर रहे है, लेकिन आजाद उम्मीदवार चैतन्य शर्मा ने करीब 12000 की रिकॉर्ड मतों से जीत दर्ज कर भाजपा व कांग्रेस दोनों की नींद उड़ा दी है.
ये भी पढ़ें: Delhi News: गाजीपुर डेयरी की झुग्गी बस्ती में लगी आग, 50 से ज्यादा घर जलकर राख

बता दें कि जिला परिषद के 17 वार्डों में से वार्ड नंबर दो कुठेड़ा खैरला से भाजपा समर्थित रजनी कुमारी, वार्ड नंबर चार से दियाड़ा भाजपा समर्थित नरेश कुमारी, वार्ड 6 मोमन्यार से भाजपा समर्थित किशन पाल शर्मा, वार्ड 8 टब्बा भाजपा समर्थितअशोक धीमान, वार्ड 10 रायपुर सहोड़ां से भाजपा समर्थित नीलम कुमारी, वार्ड 11 ललड़ी से भाजपा समर्थित कमल  सैनी, वार्ड 13 हरोली से भाजपा समर्थित रमा कुमारी, वार्ड 14 पंडोगा से भाजपा समर्थित ओंकार नाथ कसाणा, वार्ड 16 संघनई से भाजपा समर्थित संगीता देवी जीतीं है. वहीं कांग्रेस से वार्ड 1 मुबारिकपुर से  कुलदीप कुमार, वार्ड 3  ठठल से सतीश कुमार, वार्ड 5 मुच्छाली से सत्या देवी, वार्ड 7 अप्पर बसाल से उर्मिला शर्मा, वार्ड 12 पालकवाह से नरेश कुमारी, वार्ड 15 अम्बोटा से रजनी वाला  जीतीं है. वहीं वार्ड 9 बहडाला से शिव सेना समर्थित गुलजार सिंह ने जीत दर्ज की है. वार्ड 17 से भंजाल लोअर से आजाद उम्मीदवार चैतन्य शर्मा ने जीत दर्ज की है. जीत से गदगद राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष एवं पूर्व भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती ने इसे पार्टी और कार्यकर्ताओं की जीत करार दिया है. सत्ती ने कहा कि नगर निकाय और पंचायतीराज चुनावों में भाजपा समर्थित प्रत्याशियों को चुनकर जनता ने जयराम सरकार की लोकहित नीतियों पर मुहर लगाई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज