लाइव टीवी

कांगड़ा सहकारी बैंक पर 80 लाख का फर्जी लोन देने का आरोप, हाईकोर्ट जाएगा शिकायतकर्ता
Una News in Hindi

Amit Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: February 21, 2020, 9:21 AM IST
कांगड़ा सहकारी बैंक पर 80 लाख का फर्जी लोन देने का आरोप, हाईकोर्ट जाएगा शिकायतकर्ता
शिकायतकर्ता ने जुलाई में बैंक शाखा में की थी शिकायत. बैंक मैनेजर का दावा शिकायत पर चल रही है उच्च स्तरीय जांच.

कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक (Kangra Central Cooperative Bank) की कॉलेज शाखा पर फर्जी लोन (Fake loan) देने के आरोप लगे है. शिकायतकर्ता (Complainant) का आरोप है कि उसके परिवार के चार सदस्यों के नाम कांगड़ा बैंक की कॉलेज शाखा में 20-20 लाख रुपये के लोन चल रहे हैं जबकि उन्होंने या परिवार के किसी सदस्य ने लोन लिए ही नहीं.

  • Share this:
ऊना. कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक (Kangra Central Cooperative Bank) की कॉलेज शाखा पर फर्जी लोन (Fake loan) देने के आरोप लगे है. बैंक की कॉलेज ब्रांच पर 80 लाख रुपये के फर्जी लोन करने को लेकर गुरुवार को शिकायतकर्ता (Complainant) बैंक पहुंचा और इस दौरान बैंक शाखा में जमकर हंगामा हुआ. बैंक प्रबंधन ने पुलिस को भी मौके पर बुलाया. शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके परिवार के चार सदस्यों के नाम कांगड़ा बैंक की कॉलेज शाखा में 20-20 लाख रुपये के लोन चल रहे हैं जबकि उन्होंने या परिवार के किसी सदस्य ने लोन लिए ही नहीं.

शिकायतकर्ता ने बताया कि फर्जी लोन के इस मामले में जुलाई 2019 में शिकायत करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई. उसने मामले को लेकर हाईकोर्ट जाने की बात कही. दूसरी तरफ बैंक मैनेजर (Bank Manager) ने कहा कि इस संदर्भ में करीब 6 माह पहले शिकायत प्राप्त हुई थी जिसे जांच के लिए उच्चाधिकारियों को भेजा गया है. बैंक मैनेजर ने कहा कि मामले में उच्च स्तरीय जांच (High level investigation) चल रही है.
बता दें कि कांगड़ा जिला के गांव धमेटा निवासी सूरजकांत ने कांगड़ा बैंक की कॉलेज शाखा पर आरोप लगाया है कि उसके परिवार के चार सदस्यों जिसमें दो भाइयों, पत्नी और पिता के नाम पर वर्ष 2017 से 20-20 लाख रुपये के लोन चल रहे हैं. इस बारे में उसे या उसके परिवार के किसी सदस्य को कोई जानकारी नहीं है. वह या उसके परिवार का कोई सदस्य कांगड़ा बैंक की इस कॉलेज शाखा में कभी आया ही नहीं है.

बैंक की तरफ से कभी कोई जानकारी नहीं दी गई



शिकायतकर्ता ने बताया कि लोन जारी होने के बाद बैंक की तरफ से कभी कोई जानकारी नहीं दी गई. मामले का पता तब चला जब उसे गाड़ी के लिए लोन लेना था. जब शिकायतकर्ता ने अपने स्तर पर जांच पड़ताल की तो उसे पता चला कि उसके परिवार के चार सदस्यों के नाम पर कांगड़ा बैंक की ऊना कॉलेज शाखा में 20-20 लाख रुपये के लोन चल रहे हैं. शिकायतकर्ता ने बताया कि उसने कांगड़ा बैंक की नूरपुर और जसूर शाखा से लोन जरूर लिए थे, लेकिन 2017 के जिस दौरान के ये लोन बताए जा रहे हैं उस दौरान वह कांगड़ा बैंक के डिफॉल्टर थे. ऐसे में उन्होंने जानना चाहा कि इतना बड़ा लोन उन्हें कैसे दे दिया गया.



शिकायतकर्ता खटखटाएगा हाईकोर्ट का दरवाजा

शिकायतकर्ता ने बताया कि जब जुलाई 2019 में ऊना स्थित बैंक शाखा में पहुंचकर शिकायत की तो उसके कुछ दिनों बाद ही एक लोन खाते में 18 लाख रुपये की अदायगी भी हो गई. शिकायतकर्ता ने कहा कि अब बैंक प्रबंधन द्वारा पूछे जाने पर उसे कोई जानकारी नहीं दी जा रही है कि इतनी बड़ी रकम के लिए बैंक ने गारंटी के तौर पर क्या लिया है और लोन की रकम किसे दी गई और अब 18 लाख किसने जमा करवाया. शिकायतकर्ता ने कहा कि वो इस पूरे मामले को लेकर माननीय हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाएगा.

 

ये भी पढ़ें - अपनी गलत नीतियों की वजह से बैकफुट पर है कांग्रेस: हिमाचल बीजेपी अध्यक्ष

ये भी पढ़ें - ‘सस्ती शराब’ पर सियासत: ‘वीरभद्र सरकार में चहेतों के लिए बनी थी लीकर पॉलिसी’

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऊना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 21, 2020, 9:21 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading