हिमाचल हुआ अनलॉक: एंट्री के लिए E-Pass का झंझट खत्म, ऊना में खुल गया बॉर्डर

हिमाचल प्रदेश में ऊना जिले में एंट्री प्वाइंट से पुलिस का बैरियर हटाया गया है.

NO E-Pass in Himachal: डीसी राघव शर्मा ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि प्रदेश की सीमाओं पर बिठाया गया पहरा हटा लिया गया है. अब किसी भी यात्री से हिमाचल आने के लिए ही पास नहीं मांगा जाएगा.

  • Share this:
ऊना. कोविड-19 के चलते लगे आंशिक लॉकडाउन (Lockdown) के बाद अब हिमाचल प्रदेश अनलॉक की तरफ बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है. बुधवार से जहां एक तरफ बाजारों को सुबह 9:00 बजे से लेकर रात 8:00 बजे तक खुलने की छूट दे दी गई. वहीं हिमाचल (Himachal Pradesh) के बाहर से आने वाले लोगों के लिए जिला ऊना की सीमाओं पर बिठाया गया पहरा भी हटा लिया गया है. अब हिमाचल में आने वाले लोगों को किसी भी पास की जरूरत नहीं होगी.

इंटर स्टेट बस सेवाओं को शुरू होने में अभी भी वक्त लगेगा. इंटर स्टेट बस (Inter State Bus Service) सेवाएं 1 जुलाई से शुरू होंगी और इसी दिन से प्रदेश भर के तमाम धार्मिक स्थलों के कपाट भी खोल दिए जाएंगे, लेकिन मंदिरों में भजन, कीर्तन और जागरण पर प्रतिबंध रहेगा. इसी बीच लॉकडाउन के दौरान बंद चल रहे शादियों सहित अन्य कार्यक्रमों में भी शामिल होने वालो की संख्या बढ़ा दी गई है। डीसी ऊना ने बताया कि मेडिकल, डेंटल, आयुर्वेदिक, नर्सिंग और फार्मेसी संस्थाओं को छोड़ सभी प्रकार के शिक्षण संस्थान सभी बंद रहेंगे.

ऊना जिले में एंट्री प्वाइंट से गुजरते वाहन.


क्या हैं नए आदेश
सामाजिक, सांस्कृतिक, मनोरंजन, राजनैतिक और खेल-कूद के आयोजन जिला में सम्बन्धित एसडीएम की अनुमति के साथ किए जा सकते हैं लेकिन बन्द कमरे में या हॉल में कमरे की 50 प्रतिशत क्षमता या अधिकतम 50 व्यक्ति तथा खुले स्थानों पर अधिकतम 100 व्यक्ति तक उपस्थित रह सकेंगे. इसके साथ ही जिला के सिनेमा घर, मनोरंजन पार्क, थियेटर, ज़िम इत्यादि 50% क्षमता के साथ रात्रि 10.00 बजे तक खुल सकेंगे. एक जुलाई से ही हिमाचल प्रदेश के बाहर की बस सेवाएं प्रदेश में प्रवेश कर सकेगी. वहीँ जिला ऊना के तमाम धार्मिक स्थलों के कपाट भी पहली जुलाई से ही खोले जाने का प्रावधान किया गया है. इसके अतिरिक्त मेडिकल, डेंटल, आयुर्वेदिक और नर्सिंग कॉलेजों को भी खोलने की छूट प्रदान कर दी गई है. हालांकि स्कूल और अकादमिक शिक्षा से जुड़े संस्थान अभी बंद रखे जाने का ऐलान किया गया है.

क्या बोले डीसी ऊना
डीसी राघव शर्मा ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि प्रदेश की सीमाओं पर बिठाया गया पहरा हटा लिया गया है. अब किसी भी यात्री से हिमाचल आने के लिए ही पास नहीं मांगा जाएगा. उन्होंने कहा कि दूसरी लहर अब धीरे-धीरे खत्म होने की ओर अग्रसर है. जिला वासी अभी भी कोविड-19 अनुरूप अपने व्यवहार को बनाए रखें ताकि संक्रमण की तीसरी लहर से जिला को बचाया जा सके.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.