हिमाचल के ऊना में तेल-गैस की संभावनाएं, ONGC ने शुरू की खोज

ओएनजीसी टीम के प्रभारी संतोष कुमार मौर्य ने बताया कि जीपीएस सिस्टम व गूगल मैप के माध्यम से सोलहसिंगी धार में तेल होने के संकेत मिल रहे हैं. रॉ मटीरियल को लैब में भेजा जाएगा. परिणामों की जांच के लिए लैब से रिर्पोट आने तक इंतजार करना होगा.

Amit Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 5, 2019, 10:48 AM IST
हिमाचल के ऊना में तेल-गैस की संभावनाएं, ONGC ने शुरू की खोज
ऊना में तेल और गैस की संभावनाएं.
Amit Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 5, 2019, 10:48 AM IST
हिमाचल के ऊना जिले में तेल और गैस की संभावनाओं को देखते हुए ओएनजीसी ने खोजबीन शुरू कर रही है. कुटलैहड़ क्षेत्र की सोलहसिंगी धार में तेल और गैस के भंडार होने के संकेत के चलते जांच के लिए ओएनजीसी का विशेष दल यहां पहुंच है और गहनता से इसकी जांच में जुट गया है. धार व आसपाल के विभिन्न क्षेत्रों में खुदाई करके तेल व गैस के भंडारों का पता लगाया जा रहा है.

हैदराबाद भेजेंगे मिट्टी
ओएनजीसी दल ने बताया कि धार के विभिन्न स्थानों पर मशीनों की सहायता से कार्य आरंभ कर दिया है. मशीनों द्वारा जमीन के नीचे मौजूद प्राकृतिक खनिजों की जांच की जाएगी. जांच के दौरान मिली मिटटी व अन्य तत्वों को हैदराबाद लैब में भेजा जाएगा. पेट्रोलियम मंत्रालय के निर्देशों के बाद कंपनी के इंजीनियरर्स ने इस काम में दिन व रात एक कर दिए हैं. यह जांच आधुनिक तकनीक द्वारा जीपीएस सिस्टम और गूगल मैप की सहायता से की जा रही है.

ये करेगी टीम

इंजीनियरर्स के मुताबिक, मैप के अनुसार ही इस क्षेत्र में प्राकृतिक संपत्ति होने का अनुमान है. तेल के भंडारों की जांच के लिए ओएनजीसी की टीम द्वारा मशीनों को लोगों के खतों व अन्य समतल स्थानों पर लगा कर खुदाई की जा रही है. यह खुदाई दो सौ फीट की गहराई तक की जा रही है. टीम के प्रबंधक ने बताया कि तेल जांचने के लिए जमीन की तह तक जाने के लिए विस्फोट भी किए जाएंगे. उन्होंने लोगों से अपील की है कि इस दौरान भूमि में तेज कंपन्न भी हो सकती है इसलिए धैर्य बनाए रखें. यहां पर लगाई गई मशीनें इसी कंपन्न का अध्ययन करके डाटा एकत्रित करके हैदराबाद लैब को भेजा जाता है.

तेल होने के संकेत मिल रहे: ओएनजीसी
ओएनजीसी टीम के प्रभारी संतोष कुमार मौर्य ने बताया कि जीपीएस सिस्टम व गूगल मैप के माध्यम से सोलहसिंगी धार में तेल होने के संकेत मिल रहे हैं. रॉ मटीरियल को लैब में भेजा जाएगा. परिणामों की जांच के लिए लैब से रिर्पोट आने तक इंतजार करना होगा.
Loading...

ये भी पढ़ें: हिमाचल: मड़ावग गांव को सेब ने बनाया एशिया का सबसे अमीर गांव

सीएम चंबा के दो दिवसीय दौरे पर, शिलान्यासों की लगाई झड़ी

अर्धसैनिक बल में असिस्टेंट कमांडेंट बने सरकाघाट के पंकज

'50 हजार करोड़ कर्ज चंदन और खैर चुटकी में खत्म करा देगा'
First published: August 5, 2019, 10:43 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...