होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /हिमाचल में धान की बिक्री को लेकर ऊना के किसानों में खासा उत्साह, 2 दिन के सभी स्लॉट बुक

हिमाचल में धान की बिक्री को लेकर ऊना के किसानों में खासा उत्साह, 2 दिन के सभी स्लॉट बुक

Paddy Procurement in Una: एडीसी डॉ. अमित शर्मा ने कहा कि खरीद केंद्रों पर धान बेचने वाले किसानों को वेबसाइट पर ऑनलाईन पंजीकरण करवाना अनिवार्य किया गया है. पंजीकरण स्वीकृत होने के बाद किसान को स्लॉट बुक करना होगा. जिला में भारतीय खाद्य निगम के माध्यम से गेंहूं की रिकॉर्ड तोड़ खरीद की गई थी.

Paddy Procurement in Una: एडीसी डॉ. अमित शर्मा ने कहा कि खरीद केंद्रों पर धान बेचने वाले किसानों को वेबसाइट पर ऑनलाईन पंजीकरण करवाना अनिवार्य किया गया है. पंजीकरण स्वीकृत होने के बाद किसान को स्लॉट बुक करना होगा. जिला में भारतीय खाद्य निगम के माध्यम से गेंहूं की रिकॉर्ड तोड़ खरीद की गई थी.

Paddy Procurement in Una: एडीसी डॉ. अमित शर्मा ने कहा कि खरीद केंद्रों पर धान बेचने वाले किसानों को वेबसाइट पर ऑनलाईन प ...अधिक पढ़ें

ऊना. हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले में एफसीआई द्वारा धान खरीद को लेकर शुरू किए जा रहे अभियान को लेकर किसानों में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है. किसानों की ऑनलाइन पंजीकरण और उसके साथ-साथ स्लॉट बुकिंग से लगाया जा सकता है. भारतीय खाद्य निगम द्वारा प्रतिदिन 25 किसानों से धान की खरीद करने को लेकर प्लान तैयार किया गया है, जिसके लिए प्रतिदिन किसानों के 25 स्लॉट बुक किए जा रहे हैं. टकारला में स्थापित किये गए धान खरीद केंद्र पर पहुंचने वाले किसानों ने पहले 2 दिन के स्लॉट पूरी तरह से बुक कर लिए हैं.

इसके साथ ही किसानों को सुविधा प्रदान करने के लिए अंब उपमंडल के टकारला धान खरीद केंद्र के साथ-साथ अब हरोली उपमंडल के औद्योगिक क्षेत्र टाहलीवाल में दूसरा धान खरीद केंद्र स्थापित किया जा रहा है. टकारला केंद्र में जहां 15 अक्तूबर से विधिवत धान खरीद का काम शुरू किया जाएगा. वहीं, टाहलीवाल केंद्र में भी 10 से 15 दिन के भीतर धान की खरीद शुरू हो जाएगी.

जानकारी के अनुसार, टकारला केंद्र पर 15 व 16 अक्तूबर के सभी स्लॉट किसानों ने बुक कर लिए हैं. आगे के दिनों के लिए भी किसानों ने स्लॉट की बुकिंग शुरू कर दी है. प्रति दिन के लिए 25 स्लॉट रखे गए हैं, ताकि कोरोना नियमों की अनुपालना सुनिश्चित बनाई जा सके. 13 अक्तूबर तक जिला ऊना में धान बेचने के लिए किसानों से वेबसाइट पर 207 आवेदन प्राप्त हुए, जिनमें से 145 को स्वीकृति प्रदान कर दी गई है. जिला प्रशासन द्वारा किसानों की सुविधा के लिए जिला में दूसरा धान खरीद केंद्र भी स्थापित किया जा रहा है.

बाकी केंद्रों पर 10 दिन में खरीद
हरोली उपमंडल के औद्योगिक क्षेत्र टाहलीवाल में स्थापित किए जा रहे इस केंद्र में करीब 10 से 15 दिन के भीतर धान की खरीद शुरू हो पायेगी. धान खरीद के लिए अमल में लाई जा रही प्रक्रिया के तहत राजस्व या कृषि विभाग के अधिकारी पूरी छानबीन के बाद ही आवेदन को स्वीकृति प्रदान कर रहे हैं, जबकि लंबित 61 आवेदनों की जांच चल रही है.

क्या कहते हैं अधिकारी
एडीसी डॉ. अमित शर्मा ने कहा कि खरीद केंद्रों पर धान बेचने वाले किसानों को वेबसाइट पर ऑनलाईन पंजीकरण करवाना अनिवार्य किया गया है. पंजीकरण स्वीकृत होने के बाद किसान को स्लॉट बुक करना होगा. जिला में भारतीय खाद्य निगम के माध्यम से गेंहूं की रिकॉर्ड तोड़ खरीद की गई थी.

Tags: Farmer Laws, Himachal Politics

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें