vidhan sabha election 2017

शराब का ठेका खुलने का विरोध, महिलाओं ने प्रशासन को चेताया

Amit Sharma
Updated: November 15, 2017, 2:37 PM IST
शराब का ठेका खुलने का विरोध, महिलाओं ने प्रशासन को चेताया
शराब के ठेके का विरोध करती महिलाएं.
Amit Sharma
Updated: November 15, 2017, 2:37 PM IST
ऊना में गांव धुसाड़ा में खुलने वाले शराब ठेके को लेकर ग्रामीणों ने विरोध जताना शुरू कर दिया है. शराब ठेके के लिए चिन्हित स्थान पर पहुंचकर ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया. ग्रामीणों ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि अगर उनके गांव में शराब का ठेका खोला गया तो ग्रामीण उग्र आंदोलन करने से भी पीछे नहीं हटेंगे.

पंचायत के उपप्रधान ने कहा कि गांव में ठेका खोलने के लिए पंचायत को भी विश्वास में नहीं लिया गया है. पंचायत उपप्रधान ने मामले को लेकर डीसी ऊना, एसडीएम और एक्साइज विभाग को प्रस्ताव भेजने की बात कही है.

उपमंडल अंब के धुसाड़ा में खुल रहे शराब के ठेके को लेकर ग्रामीणों में विरोध के स्वर उठना शुरू हो गया है. ग्रामीणों ने बुधवार सुबह प्रदर्शन भी किया. उनका साफ कहना था कि अगर धुसाड़ा गांव में शराब का ठेका खुला, तो मजबूरन सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन करना पड़ेगा.

उन्होंने जिला प्रशसन से मांग करते हुए कहा कि शराब के ठेके को गांव से बाहर ही खोला जाए. ठेका खुलने से युवाओं पर गलत असर पड़ेगा. जो युवा नशे की लत में नहीं है, वह भी एक-दूसरे को देखकर इस दलदल में डूबेंगे.

धुसाड़ा गांव के उपप्रधान कृष्ण लाल का कहना है कि गांव में ठेका खोलने को लेकर पंचायत से किसी भी तरह की एनओसी नहीं ली गई है. गांव में खुल रहे शराब के ठेके के विरोध में एक प्रस्ताव डीसी और एसडीएम को देंगे.
First published: November 15, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर