हिमाचल: कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सरकार ने लगाई नई पाबंदियां, धार्मिक स्थलों के कपाट बंद

. सरकार की नई गाइडलाइन के अनुसार गुरुवार से प्रदेश के सभी धार्मिकस्थलों  एक बार फिर अगले आदेश तक बंद कर दिए गए हैं.

. सरकार की नई गाइडलाइन के अनुसार गुरुवार से प्रदेश के सभी धार्मिकस्थलों  एक बार फिर अगले आदेश तक बंद कर दिए गए हैं.

सरकार की नई गाईडलाइन के तहत शिमला जिले के सभी धार्मिक स्थल श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए गए हैं. वहीं मंदिरों समेत अन्य धार्मिक स्थलों में रोजाना की तरह मंदिर पुजारी ही पूजा करेंगे.  

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 5:28 PM IST
  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश में कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने धार्मिक स्थलों (Religious Places) के लिए नई गाइडलाइन जारी की है. सरकार की इस नई गाइडलाइन के अनुसार गुरुवार से प्रदेश के सभी धार्मिक स्थलों को एक बार फिर अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है. नई गाईडलाइन के तहत शिमला (Shimla) जिले के सभी धार्मिक स्थल श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए गए हैं. वहीं, मंदिरों समेत अन्य धार्मिक स्थलों में रोजाना की तरह पुजारी ही पूजा करेंगे.

शिमला के प्रसिद्ध मंदिर कालीबाड़ी, जाखू, तारादेवी, संकटमोचन समेत गुरुद्वारा और मस्जिद सभी धार्मिक स्थलों में सरकार की नई गाइडलाइन के तहत कोरोना नियमों का पालन किया जा रहा है. मंदिरों में रस्सी लगाकर आने-जाने की अलग व्यवस्था की गई है. साथ ही मंदिर परिसर में किसी भी चीज को न छूने के लिए होर्डिंग लगाए गए हैं. वहीं, मंदिर में भजन-कीर्तन, हवन, चुन्नी चढ़ाने और घंटी आदि पर प्रतिबंध लगाया गया है. उधर, डीसी शिमला आदित्य नेगी ने बताया कि नई गाइडलाइन के तहत गुरुवार से नई पाबंदियां लगाई गई हैं ताकि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोका जा सके.

शादी-ब्याह के लिए लेनी होगी अनुमति

उन्होंने कहा कि इसके अलावा किसी भी राजनीतिक, धार्मिक, खेलकूद, सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भी नई पाबंदियां लगाई गई हैं. इनमें 50 से ज्यादा लोगों के जुटने पर पाबंदी रहेगी. उन्होंने कहा कि इन सभी कार्यक्रमों का आयोजन करवाने से पहले संबंधित तहसीलदार और एसडीएम से अनुमति लेनी होगी, ताकि कोई भी बिना अनुमति के इस तरह के आयोजन न करवा सके. यदि कोई व्यक्ति नए आदेशों का उलंघन करता हुआ पाया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.
उन्होंने सभी धार्मिक संस्थान संचालकों को निर्देश दिए हैं कि वो सरकार की नई गाइडलाइन का पालन करें. गाइडलाइन के पालन के लिए अधिकारी औचक निरीक्षण करेंगे. यदि कोई इसकी अवहेलना करता हुआ पाया जाता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज