ऊना में रेत से भरे टिप्पर को जांच के लिए अधिकारी ने रोका तो चालक ने दी ये धमकियां

ऊना में खनन माफिया ने अपनी गुंडागर्दी की सारी हदें पार करते हुए एक अधिकारी को उनके खिलाफ कार्रवाई पर तबादले और नतीजा भुगतने तक की धमकी दे डाली.

Amit Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 1, 2019, 4:28 PM IST
Amit Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 1, 2019, 4:28 PM IST
हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले में दिनोंदिन खनन माफिया का खौफ बढ़ता ही जा रहा है. आज तो खनन माफिया ने अपनी गुंडागर्दी की सारी हदें पार करते हुए एक अधिकारी को उनके खिलाफ कार्रवाई पर तबादले और नतीजा भुगतने तक की धमकी दे डाली है. दरअसल ऊना वन विभाग की टीम खंड अधिकारी संजीव ठाकुर के नेतृत्व में खनन माफिया के खिलाफ विशेष अभियान चलाने के क्रम में रेत से भरे एक टिप्पर को जांच के लिए रोका तभी वन विभाग की कार्रवाई से तैश में आकर टिप्पर चालक ने पहले तो खंड अधिकारी पर ऊंची पहुंच का रौब झाड़ा. उसके बाद टिप्पर चालक तबादले और परिणाम भुगतने की धमकी देने लगा. अधिकारी ने टिप्पर चालक की एक नहीं सुनी और टिप्पर चालक का मौके पर ही चालान करके 10 हजार रुपये का जुर्माना वसूला.

प्रदेश में फल फूल रहा है माफियाओं का कारोबार

खनन माफिया गुंडागर्दी के कारनामों से पूरा देश बाबस्तां हैं, लेकिन शांत कहे जाने वाले हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले में भी खनन माफिया अपने पांव खूब पसार रहा है. इन माफियाओं के हौंसले भी बुलंद होते जा रहे हैं. खनन माफिया स्वां नदी और खड्डों का सीना तो छलनी कर ही रहे हैं लेकिन अगर कोई अधिकारी इनके खिलाफ कार्रवाई करता है तो खनन माफिया गुंडागर्दी करने तक पर उतारू हो जा रहे हैं. इसका ताजा उदाहरण आज ऊना में देखने को मिला. दरअसल वन विभाग की एक टीम ने खंड वन अधिकारी संजीव ठाकुर के नेतृत्व में खनन माफिया के खिलाफ विशेष अभियान शुरू किया है.

टिप्पर चालक ने जांच अधिकारी को दी ये धमकी

वन विभाग की टीम रविवार सुबह से ही खनन सामग्री से भरे ट्रैक्टर-टिप्परों की जांच कर रही थी, लेकिन जब विभाग की टीम ने ऊना मुख्यालय के साथ लगते गांव रामपुर में एक टिप्पर को जांच के लिए रोका तो टिप्पर चालक पहले तो बड़े राजनेताओं तक अपनी पहुंच का रौब झाड़ने लगा जब अधिकारी ने इनकी एक ना सुनी तो यह अधिकारी को तबादले और नतीजा भुगतने की धमकी देने लगा.

संजीव ठाकुर करेंगे पुलिस उच्च अधिकारियों से करेंगे शिकायत

खंड वन अधिकारी ने टिप्पर चालक की एक नहीं सुनी और 10 हजार का चालान करके हाथ में थमा दिया. खंड वन अधिकारी संजीव ठाकुर ने आपबीती सुनाते हुए बताया कि जब उन्होंने एक टिप्पर को चालान के लिए रोका तो वो नेताओं और अधिकारियों से बात करने के लिए कहने लगा, जब उन्होंने बात नहीं की तो टिप्पर चालक तबादले और देख लेने की धमकी देने लगा. संजीव ठाकुर ने कहा कि वो इस मामले की पुलिस और अपने उच्चाधिकारियों से शिकायत भी करेंगे.
Loading...

यह भी पढ़ें: नशे में धुत्त युवकों ने पौंग डैम में पुलिस के साथ की मारपीट

प्रदेश कांग्रेस के महासचिव ने ली हार की जिम्मेदारी, इस्तीफा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऊना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 1, 2019, 4:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...