‌हिमाचल: ऊना में टिप्पर के रौंदने से बाइक सवार 2 युवकों की मौत, लोगों ने लगाया जाम

ऊना में बाइक को ट्रक ने मारी टक्कर.
ऊना में बाइक को ट्रक ने मारी टक्कर.

Truck Bike accident in Una: शुक्रवार सुबह प्रवासी दो युवक बाइक पर सवार होकर पालकवाह चौक के समीप से गुजर रहे थे. इसी दौरान पंजाब नंबर के टिप्पर की बाइक के साथ टक्कर हो गई.

  • Share this:
ऊना. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के ऊना (Una) जिले में हरोली क्षेत्र के पालकवाह में शुक्रवार सुबह एक तेज रफ्तार टिप्पर ने दो बाइक सवार युवकों को रौंद (Crushed) दिया. हादसे में दोनों युवक की मौके पर मौत (Death) हो गई. हादसा इतना भयानक था कि एक युवक के शरीर के हिस्से सड़क पर बिखर गए थे. सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और घटना का जायजा लिया.

लोगों ने लगाया जाम
हादसे के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने चक्का जाम कर दिया. दोनों मृतक प्रवासी मजदूर बताए जा रहे हैं. मौके पर ऊना जिले के एसपी अर्जित सेन भी पहुंच हैं. आरोप है कि हरोली क्षेत्र में खनन माफिया नियमों को धत्ता बताते हुए धनाधन टिप्पर दौड़ाता है और ऐसे में हादसे पेश आ रहे हैं. इस पर लोगों में रोष है.टिप्पर की चपेट में आने से बाइक सवार दोनों युवकों की चेहरे बुरी तरह से कुचल दिए गए हैं. इससे पहचानना भी मुश्किल हो गया.

ऊना में हादसा.

पंजाब नंबर का था टिप्पर


जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार सुबह प्रवासी दो युवक बाइक पर सवार होकर पालकवाह चौक के समीप से गुजर रहे थे. इसी दौरान पंजाब नंबर के टिप्पर की बाइक के साथ टक्कर हो गई. डीएसपी हरोली अनिल मेहता ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है. हादसे केे बाद मृतकोंं के परिजनों और गुस्साए ग्रामीणों ने हरोली-टाहलीवाल रोड को जाम कर दिया. पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया.टिप्पर चालक के खिलाफ केस दर्ज करते हुए उसेेेे हिरासत में ले लिया है. टिप्पर को भी जब्त कर लिया गया है.

स्थानीय विधायक ने भी उठाए सवाल
हरोली से कांग्रेस विधयाक मुकेश अग्निहोत्री ने मामले को लेकर सवाल उठाए हैं और आरोप लगाया है कि खनन माफिया की वजह से यह हुआ है. मुकेश ने सोशल मीडिया पर लिखा कि खनन माफिया के आतंक और अराजकता से आज दो लोग मारे गए हैं. प्रशासन की निष्क्रियता की वज़ह से दिलदहलाने वाली घटनाएं हो रही हैं. मुख्यमंत्री सहित सारी सरकार वाक़िफ़ है कि यहाँ राजनीतिक संरक्षण में लूट मची है और माफिया बेख़ौफ़ काम कर रहा है. हज़ारों टिप्पर दिन-रात दनदना रहे हैं और सरकारी राजस्व को करोड़ों का चुना लग चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज