लाइव टीवी

ऊना : 2 साल में दुष्कर्म व छेड़छाड़ के 93 मामले हुए दर्ज, शिक्षकों की गंदी हरकतों में हुई बढ़ोतरी

Amit Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 14, 2019, 11:51 PM IST
ऊना : 2 साल में दुष्कर्म व छेड़छाड़ के 93 मामले हुए दर्ज, शिक्षकों की गंदी हरकतों में हुई बढ़ोतरी
पुलिस भी मान रही है कि पिछले कुछ समय में स्कूलों में छेड़छाड़ के मामलों में इजाफा हुआ. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

ऊना (Una) जिले में पिछले दो सालों में दुष्कर्म (Rape) और छेड़छाड़ के 93 मामले पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज (FIR) किए गए हैं. इनमें से 30 मामले तो केवल नाबालिगों (Minor) के साथ ही पेश आए हैं.

  • Share this:
ऊना. हिमाचल के ऊना (Una) जिले में पिछले दो सालों में दुष्कर्म (Rape) और छेड़छाड़ के 93 मामले पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज (FIR) किए गए हैं. इनमें से 30 मामले तो केवल नाबालिगों (Minor) के साथ ही पेश आए हैं. वहीं विद्या के मंदिर कहे जाने वाले स्कूलों में भी बच्चियां सुरक्षित प्रतीत नहीं हो रही हैं. पिछले 6 माह में ही तीन सरकारी स्कूलों (Government School) के अध्यापकों (Teachers) पर छात्राओं के साथ गंदी हरकत करने के मामले सामने आ चुके हैं. इससे अभिभावक भी चिंतित हैं.

देवभूमि हिमाचल को किया कलंकित
हिमाचल को देवभूमि कहा जाता है और कुछ समय पहले तक बलात्कार व छेड़छाड़ जैसे मामले बहुत कम सामने आते थे, लेकिन अपराधियों ने देवभूमि हिमाचल को कलंकित करना शुरू कर दिया है. ऊना में महिलाओं और नाबालिगों के साथ बालात्कार व छेड़छाड़ के मामलों के आंकड़ों पर नजर दौड़ाई जाए तो पिछले दो वर्षों में 93 मामले दर्ज हुए हैं. 2018 के मुकाबले 2019 में कुछ कमी जरूर देखने को मिली है, लेकिन नाबालिगों के साथ बालात्कार के मामले पिछले वर्ष के मुकाबले इस साल भी बराबर ही रहे हैं.

वर्ष 2018 में जहां 18 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं के साथ बलात्कार के 15 और छेड़छाड़ के 22 मामले सामने आए थे, वहीं नाबालिगों के साथ बलात्कार के 10 और छेड़छाड़ के 8 मामले पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज किए गए. 2019 में 18 वर्ष से अधिक की महिलाओं के साथ बलात्कार के 8 और छेड़छाड़ के 18 मामले दर्ज हुए जबकि नाबालिगों के साथ बलात्कार के 10 और छेड़छाड़ के 2 मामले पुलिस के पास पहुंचे हैं.

स्कूल के अध्यापक भी कर रहे छात्राओं से छेड़छाड़
ऊना में पिछले कुछ अरसे से स्कूलों में अध्यापकों द्वारा बच्चियों के साथ छेड़छाड़ के मामलों में इजाफा हुआ है. अगर पिछले छह माह की बात की जाए, तो गगरेट उपमंडल में दो अध्यापकों की गंदी हरकतें जनता के सामने आईं. वहीं हरोली उपमंडल के एक अध्यापक की करतूत भी छात्राओं ने उजागर की है. हैरानी तो इस बात को लेकर है कि उपमंडल हरोली के शास्त्री अध्यापक पर एक-दो नहीं बल्कि करीब तीन दर्जन छात्राओं ने छेड़छाड़ के आरोप लगाए हैं. एएसपी ऊना भी मानते हैं कि पिछले कुछ समय से स्कूलों में भी ऐसे मामले सामने आए हैं.

ऊना में बढ़ रही बालात्कार और छेड़छाड़ की घटनाओं को लेकर अभिभावक भी खासे चिंतित हैं. अभिभावकों की मानें तो सरकार को ऐसे मामलों पर सख्त कानून बनाकर दोषियों को सख्त सजा देनी चाहिए ताकि इन पर लगाम लग सके.ये भी पढ़ें - 

राज्य विजिलेंस ब्यूरो ने केसीसी बैंक का लोन संबंधित रिकॉर्ड सील किया

हिमाचल में बर्फबारी: CM जयराम ने आवश्यक सुविधाएं जल्द बहाल करने के दिए निर्देश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऊना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 14, 2019, 8:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर