Home /News /himachal-pradesh /

लकड़ियों के सहारे छत टिकाकर रहता है BPL परिवार, नहीं मिला आवास योजना का लाभ

लकड़ियों के सहारे छत टिकाकर रहता है BPL परिवार, नहीं मिला आवास योजना का लाभ

ऊना में बीपीएल परिवार कुछ यूं जीवनयापन कर रहा है.

ऊना में बीपीएल परिवार कुछ यूं जीवनयापन कर रहा है.

U‌na BPL family in Trouble: पंचायत प्रधान वीरेन्द्र कुमार के मुताबिक, यह परिवार परेशानी में जीवनयापन कर रहा है. पंचायत ने केस बनाकर सरकार को भेजा है.

ऊना. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के ऊना (Una) जिले में एक परिवार तंगहाली में गुजर बसर कर रहा है. पांच सदस्यों का परिवार पिछले कई साल से लकड़ी की शटरिंग के सहारे घर की छत टिकाकर जी रहा है. बरसात (Rain) में घर की छत से पानी को आने से रोकने के लिए छत पर तिरपाल लगाई है. बीपीएल परिवार (BPL Family) ने सरकार से आवास योजना का लाभ देने की गुहार लगाई है. पंचायत प्रधान की मानें तो इस परिवार को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ देने के लिए सभी औपचारिकताएं पूरी कर सरकार को मामला भेजा गया है.

यह है मामला
जिला ऊना (Una) की ग्राम पंचायत टक्का के वार्ड -3 की निवासी बुजुर्ग केसरों देवी अपने बेटे बहू और पोते और पोती के साथ टूटे हुए घर में रहती है. आलम यह बहै कि हल्की बारिश होने पर मकान के अंदर पानी रिस आता है. कमरे में दरारें आ चुकी हैं और छत का काफी हिस्सा गिर भी चुका है. बरामदे की छत को टिकाए रखने के लिए लकड़ी की बल्लियों का सहारा दिया गया है. कमरे के अंदर भी कई जगहों से दरारें आ चुकी हैं.

छोटे बच्चों सहित पूरे परिवार को खतरे के साए में जीना पड़ रहा है.
छोटे बच्चों सहित पूरे परिवार को खतरे के साए में जीना पड़ रहा है.


12 साल पहले मिला था बीपीएल का दर्जा
मकान की ऊपरी मंजिल काफी अर्से पहले ही ध्वस्त हो चुकी है, जबकि नीचे का कमरा और बरामदा भी गिरने की कगार पर है. केसरो देवी के परिवार को 2007 में बीपीएल परिवार में चयनित किया गया था और उसके बाद से काफी बार उन्होंने पक्के मकान के लिए आर्थिक मदद के लिए आवेदन किया था, लेकिन अब तक उन्हें कोई भी सरकारी मदद मुहैया नहीं हो पाई है.

बीपीएल परिवार ने सरकार से आवास योजना का लाभ देने की गुहार लगाई है.
बीपीएल परिवार ने सरकार से आवास योजना का लाभ देने की गुहार लगाई है.


हर रात डर के साए में गुजरती है: महिला
केसरो देवी का बेटा हलवाई का कार्य करता है, जबकि पोता 8वीं कक्षा तो पोती 10वीं कक्षा की पढ़ाई कर रही है। जैसे-तैसे करके यह परिवार मुसीबत झेलते हुए गुजर बसर कर रहा है. केसरो देवी और उसके बेटे के मुताबिक, उन्होंने काफी बार मकान के लिए आर्थिक मदद की गुहार लगाई है, लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हो पा रही है. हर रात इसी डर के साय के बीच गुजरती है कि अब मकान गिर जाएगा. छोटे बच्चों सहित पूरे परिवार को खतरे के साए में जीना पड़ रहा है.

यह बोले प्रधान
पंचायत प्रधान वीरेन्द्र कुमार के मुताबिक यह परिवार वाकई में मुसीबत में चल रहा है. पंचायत द्वारा इसका केस बनाकर सरकार को भेजा गया है. प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत इस परिवार को आर्थिक मदद मुहैया करवाने के प्रयास किया गया है और वहां से स्वीकृति मिलने पर आगामी कदम उठाए जाएंगे.

ये भी पढ़ें: रेप से गर्भवती हुई नाबालिग ने नवजात को खिड़की से फेंका, आरोपी फूफा गिरफ्तार

हिमाचल: सोलन के होटल में नाबालिग से रेप के प्रयास में 4 आरोपी युवक गिरफ्तार

हिमाचल के मंत्री और विधायकों के यात्रा भत्ता बढ़ाने के फैसले को HC में चुनौती

प्राइवेट कॉलेज में धारा-370 पर हिमाचली और कश्मीरी छात्रों में विवाद

10 किमी पैदल चल सब्जियां खरीदने जाता है ये हिमाचली IAS अफसर, खूब मिली तारीफ

PHOTOS: आईजीएमसी के खिलाफ सीटू का हल्ला बोल, QRT और भारी पुलिस बल पहुंचा

Tags: Himachal pradesh, Shimla

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर