BPL सूची में शामिल इस परिवार को नहीं मिल रहा सरकारी योजनाओं का लाभ

Amit Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 5, 2019, 2:17 PM IST
BPL सूची में शामिल इस परिवार को नहीं मिल रहा सरकारी योजनाओं का लाभ
ऊना का बीपीएल परिवार बकरियों के साथ रहता है.

डीसी ऊना (DC Una) संदीप कुमार ने कहा कि प्रशासन जल्द ही इस परिवार तक पहुँच बनाकर जानकारी लेगा और जिस भी योजना के तहत इस परिवार की मदद हो सकती होगी जल्द ही इस परिवार को मुहैया करवाई जाएगी.

  • Share this:
ऊना. ऊना जिला (Una) के गांव नंगड़ा के नरेश का चार सदस्यीय परिवार बेहद ही तंगहाली में अपना गुजर बसर कर रहा है. परिवार एक ही कमरे में बकरियों के साथ रहता है, उसी कमरे में खाना बनता है.  ऊना (Una)  जिला मुख्यालय से मात्र 7 किलोमीटर की दूसरी पर यह गरीब परिवार रहता है. गांव नंगड़ा का नरेश कुमार अपनी पत्नी और दो बेटों के साथ एक ही बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कमरे (Broken House) में रहने को मजबूर हैं. नरेश की गरीबी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पेट पालने के लिए बकरियां तो रखी है, लेकिन नरेश के परिवार को अपना कमरा अपनी 6 बकरियों के साथ भी सांझा करना पड़ रहा है.

एक ही कमरे में रसोई और पशु भी
इसी कमरे के एक कोने में रसोई बनाई गई है, जहाँ पर परिवार का खाना बनता है और इसी कमरे में बकरियों के बीच खाना खाना पड़ता है. बीपीएल सूची में शामिल होने के बावजूद परिवार को आज तक सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाया है. इस परिवार का मुखिया नरेश कुमार अक्सर बीमार रहता है और मनरेगा के अलावा मेहनत मजदूरी करके बामुश्किल ही अपने परिवार का पेट पाल रहा है.

दो कमरों के घर का एक कमरा क्षतिग्रस्त है.
दो कमरों के घर का एक कमरा क्षतिग्रस्त है.


नरेश के दो बेटे हैं
नरेश कुमार का एक बेटा 9वीं पास करने के बाद पढ़ाई छोड़ चुका है और दूसरा बेटा डीजल मैकेनिक की आई.टी.आई. करने के बाद रोजगार न मिलने के कारण अब ग्रेजूएशन कर रहा हैं. नरेश का बेटा भी अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए समय मिलने पर मेहनत मजदूरी कर अपना पढ़ाई खर्च निकालता है.

दो कमरे हैं लेकिन एक खस्ताहाल
Loading...

यूँ तो नरेश कुमार के पास दो कमरों का घर है लेकिन इसमें से एक कमरे की खस्ताहाल के चलते उसमें कोई नहीं रहता, वहीँ जिस कमरे में यह पूरा परिवार अपनी पालतू बकरियों के साथ रह रहा है, उस कमरे के लैंटर का पलस्तर भी कई जगह से गिर चुका है. कमरों में दरारें भी पड़ चुकी है. परिवार के पास शौचालय की सुविधा भी नहीं है.

घर के कमरे के अंदर का हाल.
घर के कमरे के अंदर का हाल.


मदद मांगी थी, नहीं मिली
ग्राम पंचायत नंगड़ा के उपप्रधान सर्वजीत भी मानते है कि यह परिवार बहुत मुश्किल दौर से गुजर रहा है और इस परिवार को सरकारी योजनाओं का लाभ मिलना चाहिए. पंचायत प्रधान और उपप्रधान की माने तो नरेश कुमार का परिवार बीपीएल सूची में शामिल है और पंचायत द्वारा करीब एक साल पहले इस परिवार को आवास योजना का लाभ देने की सिफारिश भी विभाग से की थी, लेकिन आज दिन तक भवन निर्माण के लिए इस परिवार को कोई आर्थिक मदद नहीं मिल पाई है.

Una BPL family
परिवार बीपीएल में आता है.


यह बोले डीसी
डीसी ऊना (DC Una) संदीप कुमार ने कहा कि प्रशासन जल्द ही इस परिवार तक पहुँच बनाकर जानकारी लेगा और जिस भी योजना के तहत इस परिवार की मदद हो सकेगी, जल्द ही इस परिवार को मुहैया करवाई जाएगी.

ये भी पढ़ें: शिमला जा रही HRTC बस और ट्रक में भिड़ंत, ड्राइवर सहित 4 सवार घायल

भत्ता मामला: मंत्री-विधायकों के लिए मांगी भीख, CM रिलीफ फंड में जमा होगा पैसा

विजिलेंस ने कांगड़ा में रिश्वत लेते रिटायर्ड कानूनगो किया गिरफ्तार

गुंडागर्दी का वायरल VIDEO: नालागढ़ में दुकानदार भाईयों पर हमला, शेड तोड़ा

मंडी के सुंदरनगर में चेकिंग के दौरान 22 वर्षीय युवक चिट्टे के साथ गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऊना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 1:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...