Una News: CM जयराम ठाकुर के सरकारी कार्यक्रम में लगे भगवा रंग के टेंट, कांग्रेस ने उठाए सवाल

सीएम जयराम ठाकुर का ऊना में कार्यक्रम.

सीएम जयराम ठाकुर का ऊना में कार्यक्रम.

CM Jairam Thakur Una Tour: ऊना के हरौली से कांग्रेस विधायक और नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने सोशल मीडिया पर लिखा कि सरकारी समारोहों का भगवाकरण किया जा रहा है. अब टेंट भी पार्टी झंडे के रंग के लगेंगे. स्वर्ण जयंती समारोह के नाम पर यह सब हो रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 10:02 AM IST
  • Share this:
ऊना. हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले में सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) के कार्यक्रम का राजनीतिकरण किए जाने पर कांग्रेस ने एतराज़ जताया है.. नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Mukesh Agnihotri) ने सीएम (CM) के कार्यक्रम का भगवाकरण करने पर सवाल उठाए हैं. वहीं, उनके सवालों पर कैबिनेट मंत्री वीरेंद्र कंवर (Virender Kanwar) ने जवाब दिया है. उन्होंने कहा कि कुछ नेता इस रंग पर टिप्पणी करके हिंदुओं को भ्रमित करने का प्रयास करते हैं, जो सहन नहीं होगा.

दरअसल, गुरुवार को ऊना जिले में सीएम जयराम ठाकुर का कार्यक्रम था. पुलिस मैदान झलेड़ा में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था. हालांकि, मौसम खराब होने के चलते सीएम जयराम ठाकुर का हैलीकॉप्टर शिमला से उड़ान नहीं भर सका. इसलिए कैबिनेट मंत्री वीरेंद्र कंवर ही कार्यक्रम में पहंचे. कार्यक्रम में भगवा और हरे रंग के टेंट लगाए गए थे. इस बात पर कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं.

क्या बोले मुकेश



ऊना के हरौली से कांग्रेस विधायक और नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने सोशल मीडिया पर लिखा कि सरकारी समारोहों का भगवाकरण किया जा रहा है. क्या अब टेंट भी पार्टी झंडे के रंग के लगेंगे. उन्होंने कहा कि स्वर्ण जयंती समारोह के नाम पर यह सब हो रहा है.

वीरेंद्र कंवर ने दिया जवाब



कांग्रेस के सवालों पर कैबिनेट मंत्री वीरेंद्र कंवर ने जवाब देते हुए लिखा कि हिन्दुस्तान के किसी भी नागरिक को भगवा रंग से कोई विरोध नहीं है, क्योंकि इस रंग का अर्थ सभी जानते हैं इसलिए बताना उचित नहीं रहेगा. कुछ नेता इस रंग पर टिप्पणी करके हिंदुओं को भ्रमित करने का प्रयास करते हैं, जो सहन नहीं होता. वहीं, उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम आम नहीं है, क्योंकि इस कार्यक्रम के आयोजन से ऊना ही जनता को करोड़ों की सौगातें मिलेगी. इससे बौखलाहट में आकर विपक्ष के नेता के पास विरोध करने का मुद्दा न मिला तो उन्होंने रंग पर ही टिप्पणी कर डाली. अब लोग उन्हें ये समझाने का प्रयास कर रहे हैं कि साहब! रंग को छोड़िए, विकास के बारे में सोचिए. आज करोड़ों की सौगातें मिल रही हैं, विरोध करके तनाव ही हासिल होता है, विकास नहीं. पूरे मामले पर मुकेश और वीरेंद्र आमने सामने हैं. दोनों ही ऊना जिले से आते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज