नशा तस्करों पर ढील! चौकी प्रभारी सस्पेंड, 11 को कारण बताओ नोटिस

नशे के मामला में ढिलाई पर, चौकी प्रभारी सस्पेंड, 11 को कारण बताओ नोटिस.

नशे के मामला में ढिलाई पर, चौकी प्रभारी सस्पेंड, 11 को कारण बताओ नोटिस.

एसपी ने बताया कि चौकी इंचार्ज ने अपने कर्तव्य के प्रति लापरवाही बरती है, जिसके तहत कार्रवाई सस्पैंड कर दिया गया.

  • Share this:

नशे से जुड़े मामले में कार्रवाई न करने पर एसपी ने चौकी प्रभारी को सस्पेंड कर दिया. इसके अलावा, 11 पुलिस कर्मियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. मामला हिमाचल के ऊना जिले का है.

जानकारी के अनुसार, एक वर्ष के भीतर नशे का केस न पकडऩे पर मैहतपुर पुलिस चौकी इंचार्ज को सस्पेंड किया गया है. पुलिस अधीक्षक दिवाकर शर्मा ने मादक द्रव्य अधिनियम के अंतर्गत कार्रवाई की समीक्षा बैठक के दौरान लिया. मैहतपुर चौकी में सब इंस्पेक्टर गुरमेल सिंह को एसपी के निर्देश के बाद पुलिस लाइन हाजिर कर दिया गया है. इसके लिखित ऑर्डर पुलिस महानिदेशक उत्तरी खंड धर्मशाला सहित अन्य कार्यालयों में भेज दी गई.

एक साल में केवल एक ही मामला पकड़ा

जानकारी के मुताबिक, गुरुवार को सदर थाना ऊना की मादक द्रव्य अधिनियम के अंतर्गत समीक्षा बैठक की गई. बैठक में एसपी दिवाकर शर्मा ने बताया कि पुलिस चौकी मैहतपुर ने वर्ष 2019 में मादक द्रव्य अधिनियम का केवल एक ही मामला दर्ज किया है, जो कि पुलिस चौकी मैहतपुर के मुख्य आरक्षियों ने पकड़ा.
एडवाइजरी नोट भी दिया था



एसपी ने बताया कि मासिक बैठक में मैहतपुर चौकी इंचार्ज गुरमेल सिंह ने माना था कि वर्ष 2018 से लेकर 2019 तक नशे के खिलाफ कोई मामला नहीं पकड़ा है. इस संदर्भ में पुलिस चौकी प्रभारी को एडवाइजरी नोट भी दिया गया था, बावजूद इसके मादक द्रव्य अधिनियम के तहत ज्यादा मामले नहीं पकड़ पाए. एसपी ने बताया कि चौकी इंचार्ज ने अपने कर्तव्य के प्रति लापरवाही बरती है, जिसके तहत कार्रवाई सस्पैंड कर दिया गया.

ये भी पढ़ें: हिमाचल में 200 करोड़ रुपये निवेश करेगा महिंद्रा ग्रुप

कुल्लू बस हादसा: PGI में युवती की मौत, अब तक 46 मौतें

घायल महिलाओं को अस्पताल ले जा रही एंबुलेंस का रास्ता रोका

सुर्खियां: रेप केस में 70 वर्षीय ससुर को बेल, चिट्टा बरामद

शिमला में मर्डर, बोरी में मिली लाश, बह रहा था खून

5 लाख तक मुफ्त ईलाज: हिमकेयर योजना में पंजीकरण की तारीख बढ़ी

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज