एक फरमान से विवादों में घिरा ये आईपीएस अफसर, गृहमंत्री भी हुए नाराज

500 करोड़ के हवाला घोटाले को उजागर करने के दौरान तबादला किए जाने से सुर्खियों में छाए आईपीएस अफसर गौरव तिवारी अपने एक आदेश को लेकर विवादों में घिर गए हैं. पुलिसकर्मी के रिश्वत लेते हुए पकड़े जाने को लेकर जारी इस आदेश पर सूबे के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने भी आपत्ति जताई है.

500 करोड़ के हवाला घोटाले को उजागर करने के दौरान तबादला किए जाने से सुर्खियों में छाए आईपीएस अफसर गौरव तिवारी अपने एक आदेश को लेकर विवादों में घिर गए हैं. पुलिसकर्मी के रिश्वत लेते हुए पकड़े जाने को लेकर जारी इस आदेश पर सूबे के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने भी आपत्ति जताई है.

500 करोड़ के हवाला घोटाले को उजागर करने के दौरान तबादला किए जाने से सुर्खियों में छाए आईपीएस अफसर गौरव तिवारी अपने एक आदेश को लेकर विवादों में घिर गए हैं. पुलिसकर्मी के रिश्वत लेते हुए पकड़े जाने को लेकर जारी इस आदेश पर सूबे के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने भी आपत्ति जताई है.

  • Last Updated: January 23, 2017, 4:16 PM IST
  • Share this:

500 करोड़ के हवाला घोटाले को उजागर करने के दौरान तबादला किए जाने से सुर्खियों में छाए आईपीएस अफसर गौरव तिवारी अपने एक आदेश को लेकर विवादों में घिर गए हैं. पुलिसकर्मियों के रिश्वत लेते हुए पकड़े जाने को लेकर जारी इस आदेश पर सूबे के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने भी आपत्ति जताई है.

दरअसल, आईपीएस अफसर गौरव तिवारी ने कटनी से तबादला किए जाने के बाद पिछले सप्ताह ही छिंदवाड़ा एसपी का पदभार ग्रहण किया था. नए पद की जिम्मेदारी संभालते हुए उन्होंने एक आदेश निकाला, जिसके बाद पुलिस महकमे से लेकर राजनीतिक गलियारों में बवाल मचा हुआ है.

गौरव तिवारी ने अपने इस आदेश में कहा है, 'समस्त थाना प्रभारियों को निर्देशित किया जाता है कि अगर आपके स्टाफ एवं चौकी के किसी अधिकारी/कर्मचारी को लोकायुक्त द्वारा ट्रेप किया जाता है, तो संबंधित थाना प्रभारी की संलिप्तता मानकर तत्काल संबंधित थाना प्रभारी को भी निलंबित करके कठोर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी.'



Chhindwara SP Order
एसपी का यह आदेश सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने न्यूज18 से खास बातचीत में इस तरह के आदेश पर कड़ी आपत्ति जताई है. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर वह आला पुलिस अफसरों से चर्चा करेंगे.

हवाला कांड से बने थे हीरो

आईपीएस गौरव तिवारी हमेशा से अपनी कार्यशैली को लेकर चर्चाओं में रहे हैं. कटनी एसपी रहने के दौरान उन्होंने 500 करोड़ के हवाला रैकेट में बड़े रसूखदारों के नाम उजागर किए थे, जिसके बाद अचानक सरकार ने उनका तबादला कर दिया था.

कटनी की जनता ने एसपी के तबादले के विरोध में करीब एक सप्ताह तक विरोध प्रदर्शन किए थे. कांग्रेस ने भी राजनीतिक मुद्दा बनाते हुए प्रदेश भर में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किए थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज