लाइव टीवी

जीप से बांधे गए व्यक्ति को 10 लाख मुआवजा दे सरकार: मानवाधिकार आयोग

News18India
Updated: July 10, 2017, 8:31 PM IST
जीप से बांधे गए व्यक्ति को 10 लाख मुआवजा दे सरकार: मानवाधिकार आयोग
फारूक अहमद डार

जम्‍मू कश्‍मीर राज्य मानवाधिकार आयोग ने सरकार से जीप से बांधे गए व्यक्ति को 10 लाख मुआवजा देने की मांग की है.

  • Share this:
जम्‍मू कश्मीर के राज्य मानवाधिकार आयोग ने सरकार से सेना द्वारा जीप से बांधे गए व्यक्ति को 10 लाख रुपये मुआवजा में देने की सिफारिश की है. जम्‍मू कश्‍मीर सरकार ने भी इस सिफारिश को मान लिया है.

सूत्रों के मुताबिक वरिष्‍ठ मंत्री और पीडीपी नेता ने बताया कि सरकार फारुक को 10 लाख रुपये देगी. राज्य मानवाधिकार आयोग के अनुसार फारुक को शारीरिक व मानसिक यातना और इस घटना से हुए अपमान की वजह से ऐसी सिफारिश की गई है.

बता दें कि फारुक अहमद डार को श्रीनगर लोक सभा के उपचुनाव के दौरान मानव ढाल के तौर पर आर्मी ने जीप के बोनट से बांध दिया था. मेजर लीतुल गोगोई ने घाटी में पत्थरबाजों के बीच घिरे सेना के जवानों को बचाने के लिए डार को जीप के बोनट से बांधने का फैसला किया था.

राज्य मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष रिटायर्ड जस्टिस बिलाल नजकी द्वारा जारी निर्णय में कहा गया कि इस बात (जीप से बांधे जाने) में कोई संदेश नहीं है. फारुक यातना और अपमान के शिकार हुए हैं. इस कार्रवाई से उन्हें मानसिक तनाव भी झेलना पड़ा. ये घटना जिंदगी भर उनके जेहन में रहेगी.



आयोग ने आगे कहा कि अपमान, शारीरिक व मानसिक यातना, गलत तरीके से दी गई सजा और तनाव के लिए ये विचार किया है पीड़ित को 10 लाख रुपये का मुआवजे की राज्य सरकार से भुगतान करने की सिफारिश करना उचित है. इसके अलावा आयोग ने जम्मू-कश्मीर सरकार से छह हफ्ते के अंदर ऐसा करने को कहा है.

इस मामले में कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता मनीष तिवारी का कहना है कि ये राज्य मानवाधिकार आयोग और उस व्यक्ति के बीच का मामला है जिसने आयोग को अप्रोच किया था. उन्‍होंने कहा, 'वो एक स्वतंत्र संस्था है और उसने जो फैसला दिया है वो उस व्यक्ति पर लागू होता है. मुझे ज्यादा पता नहीं है. पर ये कमीशन और राज्य सरकार के बीच की बात है.'गौरतलब है कि इस घटना के बाद डार को जीप के बोनट से बांधने वाली तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी. कुछ लोगों ने आर्मी के इस फैसले की निंदा की थी तो कई ने इसे जायज ठहराया था.

हालांकि बाद में खुद मेजर गोगोई को सामने आना पड़ा था. उन्होंने बताया था कि अगर वो ऐसा न करते तो घाटी में कई लोगों की जानें चली जातीं.

ये भी पढ़ें-

कश्‍मीर: युवक को जीप से बांधकर घुमाने की जांच जारी, सेना ने खारिज की क्‍लीन चिट की खबरें

कश्मीर में जीप पर युवक: एफआईआर दर्ज, सरकार देगी सेना का साथ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए jammu and kashmir से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 10, 2017, 7:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर