Home /News /jharkhand /

Air Pollution: रांची में भी अपनाया जाएगा दिल्‍ली मॉडल, 8 जगहों पर लगेंगे एंटी स्‍मॉग टावर

Air Pollution: रांची में भी अपनाया जाएगा दिल्‍ली मॉडल, 8 जगहों पर लगेंगे एंटी स्‍मॉग टावर

 रांची लोगों को शुद्ध हवा देने की तैयारी की जा रही है. शहर में एंटी स्मॉग टावर लगाए जाएंगे.

रांची लोगों को शुद्ध हवा देने की तैयारी की जा रही है. शहर में एंटी स्मॉग टावर लगाए जाएंगे.

Ranchi Air Pollution: रांची में प्रदूषण से निपटने के लिए दिल्ली मॉडल अपनाया जाएगा। शहर में जल्द ही एंटी स्मॉग टावर लगाया जाएगा. पहले चरण में शहर के आठ प्रमुख स्थानों पर एंटी स्मॉग टावर (Anti Smog Tower) लगेंगे. नगर आयुक्त मुकेश कुमार ने टावर बनाने वाली कंपनियों को शहर का सर्वे करके एक रिपोर्ट तैयार करने के लिए कहा है. इसकी मदद से पता लगाया जाएगा कि शहर के किस क्षेत्र में हवा में प्रदूषण का स्तर कितना है और संबंधित क्षेत्र में कितने टावर की जरूरत है. बता दें कि एंटी स्मॉग टावर एक चिमनीनुमा एयर प्यूरीफायर है, जो हवा में घुले छोटे-छोटे कणों यानी स्मॉग को छानकर शुद्ध करता है.

अधिक पढ़ें ...

    रांची. दिल्ली की तरह ही झारखंड की राजधानी की आवोहवा भी काफी दूषित (Air Pollution) हो चुकी है. ऐसे में रांची (Ranchi Air Pollution) के लोगों को शुद्ध हवा देने की तैयारी की जा रही है. इसके लिए शहर में दिल्ली मॉडल अपना जाएगा. पूरे रांची में एंटी स्मॉग टावर लगाए जाएंगे. पहले चरण में शहर के आठ प्रमुख स्थानों पर एंटी स्मॉग टावर (Anti Smog Tower) लगेंगे. इसके लिए पहले सर्वे रिपोर्ट तैयार किया जाएगा. नगर आयुक्त मुकेश कुमार ने टावर बनाने वाली कंपनियों को शहर का सर्वे करके एक रिपोर्ट तैयार करने के लिए कहा है. इसकी मदद से पता लगाया जाएगा कि शहर के किस क्षेत्र में वायु प्रदूषण का स्तर कितना है और संबंधित क्षेत्र में कितने टावर की जरूरत है.

    सर्वे के दौरान टावर लगाने के लिए स्थान का भी चयन किया जाएगा, जिससे स्मॉग टावर लगाने में किसी तरह की दिक्कत न हो. बता दें कि देश का पहला एंटी स्मॉग टावर दिल्ली के कनॉट प्लेस में लगाया गया है. शहर में एंटी स्मॉग टावर लगाने के लिए तीन कंपनियों ने अपनी रिपोर्ट पेश की थी. इसमें पंडरा से पिस्का मोड़, रातू रोड होते हुए कचहरी चौक तक की हवा सबसे खराब पाई गई. इसके अलावा  सूक्ष्‍म धुल-कण पाए गए. इस क्षेत्र की हवा में धुंआ की मात्रा भी अधिक मिली है. एमजी रोड और हरमू रोड की हवा भी काफी दूषित है.

    एंटी स्मॉग टावर 

    जानकारी के अनुसार, केंद्र सरकार ने 15वें वित्त आयोग में फंड देने का प्रावधान किया है. इसी प्रावधान के तहत रांची में एंटी स्मॉग टावर लगाने की तैयारी हो रही है. एक टावर लगाने पर करीब 1.5 करोड़ रुपए खर्च होंगे. बता दें कि एंटी स्मॉग टावर को आईआईटी मुंबई और आईआईटी दिल्ली ने तैयार किया है. यह एक चिमनीनुमा एयर प्यूरीफायर है, जो हवा में घुले छोटे-छोटे कणों यानी स्मॉग को छानकर शुद्ध करता है.

    Tags: Air pollution, Pollution, Ranchi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर