आग के दरिया से गुजरती हैं शताब्दी जैसी ट्रेनें, कभी भी हो सकती है 'अनहोनी'
Dhanbad News in Hindi

आग के दरिया से गुजरती हैं शताब्दी जैसी ट्रेनें, कभी भी हो सकती है 'अनहोनी'
धनबाद चन्द्रपुरा रेलखंड के बांसजोड़ा स्टेशन के पास भूमिगत आग रेलवे ट्रैक को पार कर चुकी है और कभी भी कानपुर जैसा एक बड़ा हादसा धनबाद में भी हो सकता है. डीजीएमएस की चेतावनी के बाद भी रेलवे इस डेंजर क्षेत्र वाली पटरी पर ट्रेनों का परिचालन जारी रखा है.

धनबाद चन्द्रपुरा रेलखंड के बांसजोड़ा स्टेशन के पास भूमिगत आग रेलवे ट्रैक को पार कर चुकी है और कभी भी कानपुर जैसा एक बड़ा हादसा धनबाद में भी हो सकता है. डीजीएमएस की चेतावनी के बाद भी रेलवे इस डेंजर क्षेत्र वाली पटरी पर ट्रेनों का परिचालन जारी रखा है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
झारखंड के धनबाद चंद्रपुरा रेलखंड के बांसजोड़ा स्टेशन के पास के हालात को देखकर कह सकते हैं कि भारतीय रेलवे हादसे के बाद भी सतर्क नहीं होती है. बांसजोड़ा स्टेशन के आस-पास के इलाके में जमीन के नीचे लंबे समय से आग धधक रही है, लेकिन रेलवे इससे बेखबर है. आलम यह है कि यहां किसी भी वक्त रेलवे पटरी के नीचे की जमीन धंस सकती है. डीजीएमएस की चेतावनी के बाद भी रेलवे ने इस खतरनाक क्षेत्र से शताब्दी समेत कई प्रमुख ट्रेनों का परिचालन जारी रखा है.

क्या है मामला

साल 2002 में गडेरिया साइडिंग के पास कोयला खदान की भूमिगत आग का दायरा बढ़ते हुए रेलवे ट्रैक के करीब पहुंचा. 2010 में भूमिगत आग रेलवे ट्रैक से करीब 30 मीटर की दूरी पर पहुंची और इन दिनों ये भूमिगत आग अंदर ही अंदर रेलवे ट्रैक को पार कर चुकी है. चूंकि पास में ही बीसीसीएल के कोलयरियों से कोयला निकलता है, जिसे रेलवे रैक के माध्यम से ढुलाई करती है. ऐसे में बीसीसीएल और रेलवे संयुक्त रूप से रेलवे ट्रैक की मॉनिटरिंग कर रही है. लेकिन अंदर ही अंदर आग का दरिया कब रेलवे ट्रैक को अपने चपेट में ले ले ये कोई नहीं जानता.



खुद डीजीएमएस के निदेशक राहुल गुहा ने भी ट्रैक को खतरनाक बताते हुए शिफ्ट करने या डॉयवर्ट करने के लिए रेलवे को कहा है. लेकिन रेलवे ने कोई कदम नहीं उठाया.



गौरतलब है कि हाल ही में यूपी के कानपुर में दो बड़ी रेल दुर्घटनाएं हुईं, जिसमें कई लोगों की जान गई और कई लोग घायल हुए. बावजूद इसके सुरक्षा की परवाह किए बिना रेलवे अपनी जिद पर अड़ा है.

गुजरती हैं ये ट्रेनेेंं

धनबाद चन्द्रपुर रेलखंड से शताब्दी, शक्तिपूंज, वनांचल, एल्लेपी, मोर्या, गरीब रथ, जयनगर इंटरसिटी, दरभंगा सिंकदराबाद एक्सप्रेस गुजरती है, जिसमें हजारों यात्री सफर करते हैं. लेकिन धनबाद रेल मंडल डीआरएम एमके अखौरी और पूर्व मध्य रेलवे एजीएम टीपी सिंह को पूरा भरोसा है कि फिलहाल कोई खतरा नहीं है. हालांकि भूमिगत आग की सुरक्षा के लिए जूलॉजिकल सर्वे की बात कह रहे हैं. जब राज्य सरकार और केन्द्र सरकार संयुक्त रूप से खतरा महसूस करेगी तब रेलवे लाइन को शिफ्ट करने पर विचार किया जाएगा.
First published: January 10, 2017, 10:34 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading