रामगढ़ गोली कांड : 72 घंटे बाद भी नहीं हुआ मृतक का अंतिम संस्कार, शव उठाने आयी पुलिस लौटी बैरंग
Bokaro News in Hindi

रामगढ़ गोली कांड : 72 घंटे बाद भी नहीं हुआ मृतक का अंतिम संस्कार, शव उठाने आयी पुलिस लौटी बैरंग
रामगढ़ में पुलिस की गोली से मारे गए दो लोगों की मौत अब राजनीतिक बवाल की वजह बन गई है. 72 घंटे बीतने के बाद भी मृतक का अंतिम संस्कार अब तक नहीं हो पाया है. लिहाजा शव से दुर्गंध उठने शुरू हो गए हैं.

रामगढ़ में पुलिस की गोली से मारे गए दो लोगों की मौत अब राजनीतिक बवाल की वजह बन गई है. 72 घंटे बीतने के बाद भी मृतक का अंतिम संस्कार अब तक नहीं हो पाया है. लिहाजा शव से दुर्गंध उठने शुरू हो गए हैं.

  • Share this:
रामगढ़ में पुलिस की गोली से मारे गए दो लोगों की मौत अब राजनीतिक बवाल की वजह बन गई है. 72 घंटे बीतने के बाद भी मृतक का अंतिम संस्कार अब तक नहीं हो पाया है. लिहाजा शव से दुर्गंध उठने शुरू हो गए हैं.

मृतक के परिजनों की पुलिस से बकझक

इस बीच रामगढ़ के बरियातू में आज एसएसपी और रामगढ़ के डीडीसी ने मृतक के परिजनों से मुलाकात की और लाश के अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को समझाया. लेकिन परिजन मानने को तैयार नहीं हुए. बाद में पुलिस ने जबरदस्ती करनी चाही तो पूरे ग्रामीण आक्रोशित हो गए लिहाजा शव को घर से निकाल कर पुलिस सड़क पर लेकर जरुर आई थी, लेकिन बाद में पुलिस बेरंग वापस लौट गई.



राजनीतिक माइलेज लेने की होड़
IMG-20160831-WA0035

इधर प्रतिपक्ष के नेता हेमंत सोरेन रामगढ़ के बरियातू पहुंचे और मृतक के परिजनों से मुलाकात की. लेकिन हेमंत सोरेन की यह मुलाकात पूरी तरह से राजनीतिक रैली की तरह दिखाई पड़ी. वजह है कि मृतक के परिजन के घर के बगल में मैदान के पास करीब 2 घंटे तक एक लंबा राजनीतिक भाषण होता रहा. हेमंत सोरेन ने कहा कि प्रशासन बेदर्द है और सरकार निकम्मी. सबसे बड़ी फजीहत वाली बात है कि जिले के डीसी राजेश्वरी भी पिछले 1 सप्ताह से छुट्टी पर हैं. लिहाजा डीडीसी परिजनों को समझाने में पूरी तरह से नाकाम रहे हैं. परिणाम यह है कि पूरे बरियातू गांव में आक्रोश का माहौल है.

शव के साथ जारी है ग्रामीणों का प्रदर्शन

ग्रामीण सड़कों पर अब भी जमे हुए हैं और सरकार से 25 लाख मुआवजा और मृतक के परिजन को सरकारी नौकरी की मांग कर रहे हैं. कहानी यहीं खत्म नहीं होती. सबसे बड़ी बात है कि जिले के स्थानीय विधायक चंद्र प्रकाश चौधरी की सरकार में मंत्री भी है. अब तक एक बार भी ना तो घटनास्थल पर पहुंचे और ना ही मृतक के परिजनों से मुलाकात करने की कोशिश की है. लिहाजा सरकार के खिलाफ लोगों में काफी गुस्सा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading