होम /न्यूज /झारखंड /Bokaro Food: कॉफी हाउस के इडली व डोसा हैं खास, सांभर और नारियल चटनी देख मुंह आ जाएगा पानी

Bokaro Food: कॉफी हाउस के इडली व डोसा हैं खास, सांभर और नारियल चटनी देख मुंह आ जाएगा पानी

Bokar Coffee House: कृष्णमूर्ति ने बताया कि डोसा, इडली व बड़ा खास वेजिटेबल सांभर और नारियल की चटनी के साथ ग्राहकों को प ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट : कैलाश कुमार

    बोकारो. बोकारो सेक्टर 1 में राम मंदिर के पीछे स्थित कॉफी हाउस 54 सालों से शहरवासियों को दक्षिण भारतीय डिश जैसे डोसा, इडली व बड़ा परोस रहा है. बोकारो के लोग यहां के स्वाद के दीवाने हैं. दुकान में हमेशा डोसा, इडली व बड़ा खाने वालों की भीड़ लगी रहती है. लोग खाने के साथ-साथ घर के सदस्यों के लिए पार्सल भी कराते हैं.

    दुकान के कुक कृष्णमूर्ति ने बताया कि डोसा बनाने के लिए उड़द दाल और चावल का इस्तेमाल किया जाता है. सबसे पहले दोनों के पाउडर के मिश्रण का घोल बनाते हैं. उसके बाद इसे तवे पर फैला कर इसमें खास तरह से तैयार आलू का चोखा डालते हैं. मसाला डोसा में आलू का चोखा डाला जाता है. ज्यादातर लोग इसे ही पंसद करते हैं. दुकान पर इसके अलावा सादा डोसा, बटर डोसा, अनियन डोसा, अनियन मसाला डोसा, पनीर डोसा भी उपलब्ध है.

    कृष्णमूर्ति ने बताया कि डोसा, इडली व बड़ा खास वेजिटेबल सांभर और नारियल की चटनी के साथ ग्राहकों को परोसा जाता है. जिसे लोग बड़े चाव से खाते हैं. सुबह व शाम के नाश्ते के तौर पर इडली और बड़ा ज्यादा पसंद किए जाते हैं. दुकान पर इडली 30 रुपये प्लेट, बड़ा 40 रुपये प्लेट व डोसा 50 रुपये से लेकर 80 रुपये तक उपलब्ध है. यहां आप सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक इन व्यजनों का लुत्फ उठा सकते हैं.

    दिल्ली से बोकारो आईं ज्योति सिंह ने बताया कि वह कॉफी हाउस पहली बार आई हैं. उन्हें यहां का डोसा बहुत ही टेस्टी लगा. साथ ही बच्चों ने भी बड़े चाव से खाए. वहीं, चंद्रपुरा के प्रभात झा ने बताया वह अक्सर यहां डोसा का लुत्फ उठाने आते हैं. साथ ही पैक करा कर भर भी जाते हैं.

    कॉफी हाउस के संचालक सुधीर ने बताया कि यह दुकान उनके पिताजी पारसनाथ और बेंगलुरु के रहने वाले उनके दोस्त ने 1968 में शुरू की थी. 1985 में पारसनाथ के दोस्त बेंगलुरु लौट गए. जिसके बाद उन्होंने अकेले दुकान की सारी जिम्मेवारी अकेले संभाली. दूरदर्शन के एक सीरियल से दुकान का नाम कॉपी हाउस रखने का आइडिया आया था. सुधीर ने बताया कि दुकान पर 4 स्टाफ 24 साल से भी ज्यादा समय से यहां काम कर रहे हैं.

    Tags: Bokaro news, Food, Jharkhand news

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें