जिसे गुड़िया समझकर घर उठा लाया बच्चा, वह निकला बम, फिर हुआ ये...

(Photo: Image for representation/ Reuters)
(Photo: Image for representation/ Reuters)

मामला सेक्टर 12 थाना (Sector 12 Police Station) क्षेत्र के सेक्टर 12 ए शाॉपिंग सेंटर के पास का है.

  • Share this:
बोकारो. झारखंड के बोकारो (Bokaro) में अपराधियों ने शुक्रवार की देर रात जिलेटिन बम फेंक कर दशहत फैलाने की कोशिश की. मामले की जानकारी मिलते ही सिटी डीएसपी ज्ञानरंजन समेत अन्य पुलिसधिकारी देर रात को ही मौके पर पहुंच गए और जांच शुरू कर दी. जानकारी के मुताबिक, मामला सेक्टर 12 थाना (Sector 12 Police Station) क्षेत्र के सेक्टर 12 ए शाॉपिंग सेंटर के पास का है. घटना की सूचना देर रात ही रांची बम डिस्पोजल स्क्वायड (Bomb Disposal Squad) की टीम को दे दी गयी थी. ऐसे में शनिवार सुबह रांची से पहुंची टीम ने बम को डिफ्यूज किया.

इस दौरान जब टीम ने जांच की तो पाया कि बम में कुछ अंश और बचे हैं. फिर टीम ने दूसरी बार फिर से सावधानी पूर्वक बम को विस्फोट कर खत्म किया. मामले में सिटी डीएसपी ज्ञानरंजन का कहना है कि रिहायशी इलाके में बम मिलना चिंता का विषय है. उन्होंने कहा कि अब जांच के बाद ही इसका खुलासा हो पाएगा. खास बात यह है कि बम को एक गुड़िए में फिट कर फेंका गया था.

HC ने शिक्षक भर्ती परीक्षा में सफल कैंडिडेट को मानवीय भूल सुधारने का दिया मौका



उसमें जिलेटिम बम फिट है
बताते चलें कि बीते शुक्रवार की देर रात सीआईएसएफ की स्क्वायड टीम ने जांच के बाद यह बताया था कि यह गुड़िया जो फेंका हुआ है उसमें जिलेटिम बम फिट है. बताया जा रहा था कि सेक्टर 12 ए ‌आवास संख्या 2283 में रहने वाले विनय कुमार डे के आवास में रात्री 12 बजे के आसपास किसी ने एक गुड़िया फेंक दिया था. जब परिवार का छोटा  बच्चा देवाशीष कुमार डे को घर के अंदर कुछ गिरने की आवाज सुनाई दी तो वह बाहर निकला और अंधेरे में गुड़िया को आम समझ उसे उठाकर अंदर ले आया. विनय कुमार डे ने जैसे ही गुड़िया की तरफ देखा तो उन्हें झटका लग गया. क्योंकि इस गुड़िए में बैठ्री और तार फिट थे. खतरे को भांपते हुए विनय कुमार डे ने तत्काल उसे घर के बाहर फेंक दिया और मामले की जानकारी स्थानीय थाना को दी.

Corona की चपेट में आए दिल्ली के DCP, अब तक 1300 पुलिसकर्मी मिले पॉजिटिव

यह गुड़िया को फेंका गया
बताया जा रहा है की जिस घर में यह गुड़िया को फेंका गया उस मकान के मालिक विनय कुमार डे की चास में फर्नीचर की दुकान है. बताया जा रहा है कि ये जिलेटिन बम से नुकसान किया जा सकता था. इससे दो से तीन लोग व घर को झति पहुंचाई जा सकती थी. जिस तरह रिहायशी इलाके में शरारती तत्वों ने पुलिस को चुनौती देते हुए एक घर में इस तरह की घटना को अनजाम दिया है उससे परिवार के दशहत में आ गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज