लाइव टीवी

आदिवासी महिलाओं की इज्जत बचाने की गुहार पर बनी जांच कमेटी

Gyanendu | News18 Jharkhand
Updated: October 9, 2018, 8:13 PM IST
आदिवासी महिलाओं की इज्जत बचाने की गुहार पर बनी जांच कमेटी
सुभाषचंद्र जाट-एएसपी बेरमो

आदिवासी महिलाओं की इज्जत बचाने की गुहार पर बनी जांच कमेटी मुख्यमंत्री समेत बोकारो जिले के डीसी और एसपी को भेजी एक चिट्ठी ने जिला प्रशासन के साथ पुलिस प्रशासन को भी परेशान रख छोड़ा था जिसमें महिलाओं ने अपनी लुटती इज्जत को बचाने की गुहार लगायी थी.

  • Share this:
आदिवासी महिलाओं की इज्जत बचाने की गुहार पर बनी जांच कमेटी मुख्यमंत्री समेत बोकारो जिले के डीसी और एसपी को भेजी एक चिट्ठी ने जिला प्रशासन के साथ पुलिस प्रशासन को भी परेशान रख छोड़ा था जिसमें महिलाओं ने अपनी लुटती इज्जत को बचाने की  गुहार लगायी थी. इस मामले में न्यूज़ 18 के हाथ लगे पत्र को पाकर खबर को प्रमुखता से चलाया था. खबर के बाद जांच में तेजी आई और फिर डीसी और एसपी के आदेश से बेरमो  एसडीओ प्रेमरंजन और एसडीपीओ बेरमो सुभाषचंद्र जाट की एक तीन सदस्यीय कमेटी बनाई. गोमिया प्रखंड के आईएएल थाना क्षेत्र के करमाटांड में संचालित पांच क्रशरों की जांच की.

तीन सदस्यीय टीम ने जांच में जरुरी कागजात नहीं प्रस्तुत करने के कारण तत्काल क्रशर को बंद करने का आदेश जारी करते हुए पांच क्रशर को सील कर दिया. बंद क्रशर के मालिकों का कहना है कि जो कागजात की मांग प्रशासन कर रहा है उसको दे दिया जाएगा. मामले में एसडीओ बेरमो प्रेमरंजन ने कहा कि पत्र की जांच में ऐसी कोई बात सामने नहीं आई है. ऐसे ने पत्र को किसी न जानबूझकर परेशान करने का लोकर भेजा. वहीं एसडीपीओ बेरमो सुभाषचंद्र जाट ने कहा कि जांच मे ऐसा कोई मामला नहीं आया है और जांच कर रिपोर्ट  एसपी को सौंप दिया जाएगा.

27 सितंबर को स्पीट पोस्ट से भेजी चिट्टी ने जिला के पुलिस अधिकारियों को सकते में डाल दिया था.  पत्र में महिलाओं ने अपने उपर हो रहे जु्ल्म की कहानी बयां की है. पत्र के अनुसार बोकारो के गोमिया में चल रहे अवैध क्रशर में काम करने वाली आदिवासी महिलाओं के साथ गंदा खेल  (दुष्कर्म) क्रशर मालिकों व उनके आदमियों द्वारा खेला जा रहा है और महिलाओं के परिजनों के विरोध करने पर धमकी भी दी जा रही है. पत्र में इस बात भी जिक्र है कि विरोध करने पर एक   महिला के भाई को मारकर नदी में बदा दिया गया था. रात में चल रहे क्रशर में यह गंदा खेल खेला जा रहा है. इसको लेकर शिकायती पत्र में मुख्यमंत्री को लिखा है कि ' चाचा इज्जत बचाइए-हम सब गरीब बहन और बेटी हैं ' .

यह भी पढ़ें - हजारीबाग में BGR कंपनी के अधिकारी के आवास को NIA ने किया सील

यह भी पढ़ें - इस नये रोग के शिकार हुए लालू प्रसाद, बढ़ा मेमोरी लॉस का खतरा

यह भी पढ़ें - राम मंदिर अयोध्या में नहीं, तो क्या पाकिस्तान में बनेगा- CM रघुवर दास

 
Loading...

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बोकारो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2018, 8:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...