निजी स्कूल की मनमानी का शिकार हुए शिक्षा मंत्री, फीस नहीं जमा करने पर नातिन का काटा नाम

शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने स्कूल के प्रिंसिपल को जमकर फटकार लगाई
शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने स्कूल के प्रिंसिपल को जमकर फटकार लगाई

बोकारो में फीस नहीं जमा करने पर शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो (Jagarnath Mahto) की नातिन का नाम ऑनक्लास से काट दिया गया. इससे भड़के शिक्षा मंत्री स्कूल पहुंचकर पहले फीस जाम किया, फिर प्रिंसिपल को जमकर फटकार लगाई.

  • Share this:
बोकारो. झारखंड के बोकारो (Bakaro) में फीस जमा नहीं करने पर शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो (Jagarnath Mahto) की नातिन का नाम काट दिया गया. निजी स्कूल की इस करतूत से भड़ने मंत्री स्कूल पहुंचकर प्रिंसिपल को जमकर फटकार लगायी. मामला जिले के चास-चंदनकियारी मार्ग पर स्थित डीपीएस स्कूल का है. फीस जमा नहीं करने पर शिक्षा मंत्री की नातिन का नाम ऑनलाइन क्लास से काट दिया गया.

जानकारी के मुताबिक इस मामले में दो दिन पहले स्कूल की तरफ से मंत्री की बेटी को फोन गया था. जिसके बाद मंत्री ने फोन कर पैसा जमा करा देने का भरोसा दिलाया था. लेकिन स्कूल ने शिक्षा मंत्री की बात को अनसुना कर बच्ची का नाम ऑनलाइन क्लास से काट दिया. बच्ची को ऑनलाइन क्लास करने से रोक दिया गया.

क्लास फोर में पढ़ती है नातिन 



बता दें कि शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की पुत्री रीना देवी नावाडीह में रहती हैं. रीना की बेटी रागिनी को डीपीएस चास में कक्षा चार में पढ़ती है. मामला सामने आने के बाद मंत्री के स्कूल पहुंचने से पहले जिला शिक्षा पदाधिकारी नीलम आईलिन टोप्पो स्कूल पहुंचकर मामले की जानकारी ली. फिर शिक्षा मंत्री ने स्कूल पहुंचकर फीस जमा किया. फीस जमा नहीं होने के कारण स्कूल प्रबंधन ने मंत्री की नातिन को दो दिन पहले ऑनलाइन क्लास करने से रोक दिया. नाम काट दिया.
बच्ची की मां रीना देवी ने जब इस सिलसिले में क्लास टीचर से बात कर फीस जमा करने का भरोसा दिलाया, लेकिन उनकी बातों को अनसुना कर दिया गया. तब बेटी ने शिक्षा मंत्री पिता को पूरी जानकारी दी तो पिता ने स्कूल जाकर फीस जमा कर दिया. शनिवार को मंत्री ने नातिन का स्कूल फीस 22,800 रुपये जमा किया.

'सामने आई स्कूलों की हकीकत' 

शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने बताया कि वह बतौर अभिभावक स्कूल पहुंचे थे और नातिन का फीस जमा किया. उन्होंने कहा कि मीडिया के माध्यम से यह बात आ रही थी कि निजी स्कूल अभिभावकों का शोषण कर रहा है, जिसकी हकीकत सामने आ गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज