लाइव टीवी

दो बेटियों के हत्यारे पिता ने जेल में की खुदकुशी की कोशिश, गले और हाथों के नस काटे
Bokaro News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: February 14, 2020, 2:01 PM IST
दो बेटियों के हत्यारे पिता ने जेल में की खुदकुशी की कोशिश, गले और हाथों के नस काटे
गिरफ्तारी के बाद आरोपी मनसुख मानसोनी ने अपने लिए फांसी की मांग की थी

तेनुघाट जेल के जेलर अर्जुन ठाकुर ने बताया कि आरोपी ने शुक्रवार सुबह नौ से दस बजे के बीच खुदकुशी करने की कोशिश की. गले और हाथों के नस काट लिये. लहूलूहान हालत में उसे अनुमंडलीय अस्पताल ले जाया गया, जहां से रिम्स रेफर किया गया है.

  • Share this:
बोकारो. दो बेटियों की हत्या (Murder) के आरोप में गिरफ्तार पिता मनसुख मानसोनी ने तेनुघाट जेल (Tenughat Jail) में आत्महत्या (Suicide) का प्रयास किया. आरोपी ने गले और हाथों के नस को काटने की कोशिश की. गंभीर स्थिति में उसे तेनुघाट अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से रिम्स (RIMS) रेफर कर दिया गया है. बुधवार रात को आरोपी ने अपने दो मासूम बेटियों की गला दबाकर हत्या कर दी थी. जिसके बाद गुरुवार को पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. आरोपी को तेनुघाट जेल के वार्ड नंबर एक में रखा गया था.

तेनुघाट जेल के जेलर अर्जुन ठाकुर ने बताया कि आरोपी ने शुक्रवार सुबह नौ से दस बजे के बीच खुदकुशी करने की कोशिश की. गले और हाथों के नस काट लिये. लहूलूहान हालत में उसे अनुमंडलीय अस्पताल ले जाया गया, जहां से रिम्स रेफर किया गया है.

बेटियों की गला दबाकर की हत्या 

पेटरवार थाना इलाके के पिछड़ी गांव के रहने वाले मनसुख मानसोनी ने बुधवार रात को अपनी दो बेटियों की गला दबाकर हत्या कर दी और शवों को झाड़ियों में फेंक दिया था. बड़ी बेटी प्रिया 15 साल और छोटी किरण 12 साल की थी. जिसके बाद पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया था. आरोपी फुसरो में कपड़े की दुकान चलाता था. रात में दुकान से घर लौटने के बाद घटना को अंजाम दिया.



'मुझे हो फांसी'

आरोपी ने बताया कि वह रोज-रोज की कलह से परेशान था. पत्नी बार-बार ताना देती थी कि अपने चारों बच्चों को ले जाओ. हम बिदांस जिंदगी जिएंगे. डेढ़ साल से होटल में खाना खा रहा था. इस स्थिति से अब टूट चुके थे. इसलिए मजबूर होकर बच्चियों को मार डाला. भगवान से यही चाहते हैं कि जितना जल्दी हो मुझे भी फांसी मिले.

पत्नी का कहना है कि उसके देवर का दूसरे जाति की लड़की से प्रेम चल रहा था. इसलिए सामाजिक कलंक के चलते उसने इस घटना को अंजाम दिया. रात में घर के पास झाड़ी में ले जाकर दोनों बेटियों को मार डाला.

इनपुट- ज्ञानेंदू

ये भी पढ़ें- चाईबासा: फूड पॉइजनिंग से कस्तुरबा विधालय की 70 छात्राएं पड़ीं बीमार, रात में खाया था बासी खाना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बोकारो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 14, 2020, 2:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर