पति के काम पर जाते ही बड़ा भाई डालता था शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव, सुसराल छोड़ भागी नवविवाहिता

पीड़िता ने इस सिलसिले में महिला थाने और एसपी को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है.

पीड़िता ने इस सिलसिले में महिला थाने और एसपी को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है.

Bokaro News: पीड़िता का कहना है कि उसे न्याय चाहिए. अगर उसका पति उसे ठीक से रखना चाहता है तो वह उसके साथ रहने के लिए तैयार है.

  • Share this:

रिपोर्ट- मृत्युंजय कुमार

बोकारो. झारखंड के बोकारो में नवविवाहिता को जबरन शारीरिक संबंध बनाने के लिए दवाब डालने का मामला सामने आया है. घटना बालीडीह थाना इलाके की है. पीड़िता ने पति के बड़े भाई, उसके दोस्त, सास और ननद पर संगीन आरोप लगाते हुए पुलिस ने न्याय की गुहार लगाई है. पीड़िता ने इस सिलसिले में एसपी और महिला थाने में ससुरालवालों पर केस दर्ज कराई है. पुलिस मामले की जांच में जुटी है. फिलहाल पीड़िता सुसराल छोड़कर अपने मासी के घर कुर्मीडीह में रह रही है.

पीड़िता ने बताया कि वह मूलतः बिहार के आरा की रहने वाली है. उसका व्याह बालीडीह के रहने वाले श्रवण कुमार से 13 दिसंबर 2020 को हुआ. लेकिन शादी के बाद से ससुराल में उसे दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा. लेकिन वह सबकुछ सहती रही. लेकिन बात जब दहेज से देह पर आ गई तो वह ससुरालवालों को सबक सिखाने की ठान ली है.

पीड़िता के मुताबिक उसका पति निजी कंपनी में काम करता है. जैसे ही उसका पति काम पर जाने के लिए घर से निकलता बड़ा भाई पवन सिंह और उसका दोस्त रोहित कुमार प्रजापति उसके साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश करने लगे. यह सिलसिला हाल में शुरू हुआ. लेकिन उसने जब इसकी शिकायत सास गीता देवी और ननद पूजा कुमारी से की, तो वे भी बड़े भाई के पक्ष में खड़े हो गये. जब इस बात की जानकारी पति श्रवण को दी तो वह भी घरवालों को ही सही ठहराया.
जिसके बाद पीड़िता ने बालीडीह थाना पहुंचकर ससुरालवालों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई, लेकिन वहां से उसे कोई मदद नहीं मिली. अब पीड़िता ने महिला थाने और एसपी को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है.

पीड़िता का कहना है कि उसे न्याय चाहिए. अगर उसका पति उसे ठीक से रखना चाहता है तो वह उसके साथ रहने के लिए तैयार है. महिला थाने के एएसआई अशोक राम ने बताया कि पीड़िता के आवेदन पर केस दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है. जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज