Home /News /jharkhand /

बोकारो: पर्वतपुर कोल ब्लॉक में अवैध खनन कर रहे चार मजदूरों के दबने की आशंका, आधिकारिक पुष्टि नहीं

बोकारो: पर्वतपुर कोल ब्लॉक में अवैध खनन कर रहे चार मजदूरों के दबने की आशंका, आधिकारिक पुष्टि नहीं

बोकारो के पर्वतपुर कोल ब्लॉक में अवैध खनन कर रहे मजदूरों के दबने की आशंका.

बोकारो के पर्वतपुर कोल ब्लॉक में अवैध खनन कर रहे मजदूरों के दबने की आशंका.

Bokaro News: वर्षों से बंद पड़े पर्वतपुर कोल ब्लॉक में अवैध उत्खनन के दौरान बड़ा हादसा हुआ है. चाल धंसने के कारण चार मजदूरों के दब जाने की बात सामने आ रही है. हालांकि, बोकारो जिले के अमलाबाद ओपी की पुलिस किसी के मरने की संभावना से इनकार कर रही है. वह सिर्फ हादसे की बात स्वीकार कर रही है. हादसे के बाद इलाके में काफी दहशत है. डर के मारे मृत मजदूरों के स्वजन सामने नहीं आ रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- मृत्युंजय कुमार
    बोकारो. अमलाबाद ओपी इलाके के पर्वतपुर कोल ब्लॉक में कोयले के अवैध खनन के दौरान चार मजदूरों के दबने की आशंका जताई जा रही है. ये मजदूर कोल ब्लॉक के पास के गांव के रहने वाले बताये जा रहे हैं. हालांकि पुलिस कार्रवाई के डर से मृतकों के परिजन सामने नहीं आ रहे हैं. बताया जा रहा है कि बोकारो जिले के चंदनकियारी प्रखंड स्थित बंद पड़े पर्वतपुर कोल ब्लॉक में अवैध खनन चल रहा था. यह काम कोयला तस्कर स्थानीय मजदूरों के माध्यम से करवाते हैं. शुक्रवार देर शाम को खनन का काम चल रहा था इसी दौरान अचानक से चाल धंसने के कारण उत्खनन कार्य मे लगे कई लोग फंस गए. आनन-फानन में कुछ लोगों को बाहर निकाला गया, परंतु उसमें से चार मजदूर अंदर ही दबे रह गए. हालांकि हादसे की आधिकारिक पुष्टि नही हो पाई है और न ही क्षेत्र में स्थानीय लोग इस संबंध में कुछ भी बता रहे हैं.

    बता दें कि वर्षों से बंद पड़े पर्वतपुर कोल ब्लॉक में अवैध उत्खनन के दौरान बड़ा हादसा हुआ है. चाल धंसने के कारण चार मजदूरों के दब जाने की बात सामने आ रही है. हालांकि, बोकारो जिले के अमलाबाद ओपी की पुलिस किसी के मरने की संभावना से इनकार कर रही है. वह सिर्फ हादसे की बात स्वीकार कर रही है. हादसे के बाद इलाके में काफी दहशत है. डर के मारे मृत मजदूरों के स्वजन सामने नहीं आ रहे हैं.

    जानकारी के मुताबिक इस हादसे में एक महिला और तीन पुरुष के चाल में दबने की बात में दबी जुबान में बताई जा रही है. हालांकि इस मामले पर जब चास अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी पुरुषोत्तम सिंह से बात की गई तो उन्होंने घटना से तो इनकार नहीं किया है लेकिन उनका कहना था कि इस हादसे में कोई दबा है इसकी कोई जानकारी अभी पुलिस को परिजनों ने नहीं दी है.

    हालांकि लोगों का कहना है कि जिस प्रकार से अमलाबाद ओपी क्षेत्र में अवैध खनन चल रहा था वह बिना अमलाबाद ओपी की संरक्षण के नहीं चल रहा होगा. ऐसे में पुलिसिया जांच इस पर क्या होती है देखने वाली बात होगी.

    Tags: Bokaro news, Coal mines, Jharkhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर