लाइव टीवी

छुट्टी विवाद में जवान ने कमांडर-ASI की गोली मारकर की हत्या, फिर की खुदकुशी

News18Hindi
Updated: December 10, 2019, 10:03 AM IST
छुट्टी विवाद में जवान ने कमांडर-ASI की गोली मारकर की हत्या, फिर की खुदकुशी
पुलिस के मुताबिक आरोपी जवान ने छुट्टी को लेकर हुए झगड़े में वारदात को अंजाम दिया (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पुलिस अधीक्षक (एसपी) पी मुरुगन ने कहा कि फायरिंग करने वाले जवान दीपेंद्र यादव का छुट्टी को लेकर विवाद हुआ था. इसलिए गुस्से में आकर उसने गोली चला दी जो कंपनी कमांडर साहुल हरसन और एएसआई पी भुईंया को लग गई और दोनों की मौके पर मौत हो गई. मृतक कंपनी कमांडर हरसन केरल के रहने वाले थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 10, 2019, 10:03 AM IST
  • Share this:
बोकारो. झारखंड (Jharkhand) के बोकारो जिले (Bokaro District) के नक्सल प्रभावित क्षेत्र चतरोचट्टी थाना के कुर्कनालो स्थित अस्थायी सीआरपीएफ कैंप (CRPF Camp) में एक जवान ने तीन लोगों को गोली मार दी. इसके बाद आरोपी जवान ने खुद को भी गोली मार ली. फायरिंग (Firing) में सीआरपीएफ 226 बटालियन के कंपनी कमांडर साहूल हरसन और एएसआई पी भुईंया की मौत हो गई जबकि आरोपी समेत दो लोग जख्मी हुए हैं. दोनों घायलों को बेहतर इलाज के लिए देर रात गोमिया से हेलिकॉप्टर के जरिए रांची मेडिकल कॉलेज भेजा गया है. सूत्रों के मुताबिक सोमवार देर रात सीआरपीएफ के जवान दीपेंद्र यादव द्वारा कैंप में गोलीबारी की गयी. घटना की सूचना पाकर सीआरपीएफ के अधिकारी, पुलिस अधीक्षक (एसपी) पी मुरुगुन, एएसपी अभियान समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच में जुट गए.




पुलिस अधीक्षक (एसपी) पी. मुरुगन ने कहा कि फायरिंग करने वाले जवान दीपेंद्र यादव का छुट्टी को लेकर विवाद हुआ था. इसलिए गुस्से में आकर उसने गोली चला दी जो कंपनी कमांडर साहुल हरसन और एएसआई पी भुईंया को लग गई और दोनों की मौके पर मौत हो गई. मृतक कंपनी कमांडर हरसन केरल के रहने वाले थे.

चुनाव में ड्यूटी के लिए बोकारो आया थाझारखंड विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के मतदान के लिए सीआरपीएफ 226 बटालिएन की टीम गोमिया स्थित नक्सल प्रभावित क्षेत्र के चतरोचट्टी थाना क्षेत्र के अस्थायी सीआरपीएफ कैंप में ठहरी हुई है. इसके तहत आरोपी जवान दीपेंद्र यादव भी चुनावी ड्यूटी के लिए टीम के साथ आया था.

बता दें कि दो दिन पहले भी राजधानी रांची के खेलगांव स्थित कैंप में आपसी विवाद में एक जवान ने कंपनी कमांडर (Company Commander) की गोली मारकर हत्या कर दी थी. फिर उसने खुद को भी गोली मारकर जान दे दी थी. मृतक दोनों छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल (Chhattisgarh Armed Force) बटालियन 4-बी के जवान थे. कंपनी कमांडर की पहचान मेलाराम कुर्रे और जवान की पहचान विक्रम राजवाड़े के रूप में हुई है. दोनों चुनावी ड्यूटी के लिए रांची आए हुए थे.



ये भी पढ़ेंः छत्तीसगढ़ आर्म्ड फोर्स के जवान ने कंपनी कमांडर को गोली मारकर कर ली खुदकुशी

पुलिस की गोली से नहीं बल्कि चाकू के हमले से हुई थी जिलानी अंसारी की मौत

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बोकारो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 9:38 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर