Home /News /jharkhand /

लोगों की करोड़ों की कमाई लेकर चिटफंड कंपनी फरार, वापसी की आस में पहुंचे पीड़ित

लोगों की करोड़ों की कमाई लेकर चिटफंड कंपनी फरार, वापसी की आस में पहुंचे पीड़ित

एजेंटों की फौज तैयार की और लोगों को कम समय में डबल पैसे का भरोसा दिलाकर करोड़ों रुपये जमा कर लिए. कंपनी कुछ महीने ठीक-ठाक चली और कुछ महीनों बाद तीनों शातिर ठग जमा रकम की वापसी बंद कर दी.

एजेंटों की फौज तैयार की और लोगों को कम समय में डबल पैसे का भरोसा दिलाकर करोड़ों रुपये जमा कर लिए. कंपनी कुछ महीने ठीक-ठाक चली और कुछ महीनों बाद तीनों शातिर ठग जमा रकम की वापसी बंद कर दी.

एजेंटों की फौज तैयार की और लोगों को कम समय में डबल पैसे का भरोसा दिलाकर करोड़ों रुपये जमा कर लिए. कंपनी कुछ महीने ठीक-ठाक चली और कुछ महीनों बाद तीनों शातिर ठग जमा रकम की वापसी बंद कर दी.

बोकारो के सेक्टर फोर थाना में बिहार के समस्तीपुर के कई लोग अपनी गाढ़ी कमाई की वापसी की फरियाद लेकर पहुंचे.

मामला झारखंड में एक चिटफंड कंपनी के द्वारा करोड़ों की ठगी से संबधित है. इस मामले में पीड़ितों ने पिछले महीने एसपीवाईएस रमेश से मुलाकात कर शिकायत दर्ज की थी. एसपी ने रकम वापसी का आश्वासन भी दिया था, लेकिन अब न कोई आरोपी गिरफ्तार हुआ है और न ही कोई कार्रवाई हुई है.

क्या है मामला

बोकारो के हरला थाना इलाके के सेक्टर-9 के रहने वाले मो. आलम अंसारी, मो. मुस्तकीम असांरी और मो. शकील अहमद ने मल्टी नेशनल इंट्रस्ट्रीज लिमिटेड नामक चिट फंड कंपनी बनाई. इस कंपनी का मुख्यालय तो हावड़ा था, लेकिन इन्होंने कार्यालय बोकारो के सिटी सेंटर में बनाया.

इन्होंने कंपनी के सहारे लोगों की मेहनत की कमाई पर अपनी नजर गड़ाई और फिर वर्ष 2013 के जुलाई में बिहार के समीस्तीपुर, नवंबर में दलसिंहसराय में कार्यालय खोला. इसके बाद एजेंटों की फौज तैयार की और लोगों को कम समय में डबल पैसे का भरोसा दिलाकर करोड़ों रुपये जमा कर लिए.

कंपनी कुछ महीने ठीक-ठाक चली और कुछ महीनों बाद तीनों शातिर ठग जमा रकम की वापसी बंद कर दी. अपने पैसों को डूबता देख एक व्यक्ति अमरेश राय की तनाव में मौत भी हो गई. ये लोग रकम वापसी को लेकर बोकारो दर्जनों बार आए, लेकिन किसी ने सुध नहीं ली.

Tags: Bokaro news, Jharkhand news, क्राइम

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर