Home /News /jharkhand /

बोकारो: राष्ट्रीय स्तर का तीरंदाज पेट की आग बुझाने के लिए कर रहा दिहाड़ी मजदूरी

बोकारो: राष्ट्रीय स्तर का तीरंदाज पेट की आग बुझाने के लिए कर रहा दिहाड़ी मजदूरी

तीरंदाज दीपक संवइया राष्ट्रीय स्तर के कई प्रतियोगिताओं में मेडल जीत चुका है.

तीरंदाज दीपक संवइया राष्ट्रीय स्तर के कई प्रतियोगिताओं में मेडल जीत चुका है.

Bokaro News: तीरंदाज दीपक संवइया के पिता की मौत हो चुकी है और मां घर में ही परचून की दुकान चलाती है. लेकिन दुकान से इतनी कमाई नहीं होती कि पूरे परिवार का खर्च चल सके, इसलिए दीपक को मजदूरी करना पड़ रहा है.

    रिपोर्ट- मृत्युंजय कुमार

    बोकारो. पेट की आग को बुझाने के लिए तीरंदाज (Archer) दीपक संवइया मजदूरी करने पर मजबूर है. बोकारो के तीरंदाज दीपक संवइया की घर की आर्थिक स्थिति बेहद खराब है. लिहाजा दीपक पिछले कोरोनाकाल से ही दिहाड़ी मजदूरी कर रहा है. पिता की मौत हो चुकी है और मां घर में ही परचून की दुकान चलाती है. दुकान से इतनी कमाई नहीं होती कि पूरे परिवार का खर्च चल सके, इसलिए दीपक को मजदूरी करना पड़ रहा है.

    दीपक की मां पिंकी संवइया का कहना है कि उसने बेटे को तीरंदाजी के क्षेत्र में देश और प्रदेश का नाम ऊंचा करने का सपना देखी थी, लेकिन स्थिति ऐसी है कि होनहार बेटा अब मजदूरी कर घर चला रहा है. सरकार या जिला प्रशासन दीपक की मदद करे तो उसका भविष्य संवर सकता है.

    दीपक संवइया ने बताया कि उसने तीरंदाजी के क्षेत्र में कई मुकाम हासिल किये. लेकिन वर्तमान समय में घर का खर्चा चलाने के लिए उसे दिहाड़ी मजदूरी करना पड़ रहा है. दीपक बताते हैं कि उसे वर्तमान सरकार की कोई मदद नहीं मिली है. पूर्व की रघुवर सरकार के द्वारा कीट जरूर उपलब्ध कराया गया था. लेकिन वह भी काफी निम्न स्तर का है और इस्तेमाल लायक नहीं है. तीरंदाजी में अगर कीट सही ना हो तो निशाना साधना मुश्किल होता है.

    दीपक ने बताया कि बोकारो फाउंडेशन ट्रस्ट के द्वारा उसे गोद लिया गया था. उस दौरान बड़ी-बड़ी बातें कही गई थी कि खेल सहित पढ़ाई की व्यवस्था ट्रस्ट करेगा. लेकिन सिर्फ एक ही महीने का खर्च दिया.

    बोकारो फाउंडेशन ट्रस्ट भाजपा विधायक बिरंची नारायण की पत्नी नीना नारायण का है, जो ट्रस्ट का अध्यक्ष हैं. दीपक की माने तो एक महीने के बाद ट्रस्ट वने उसे उसके हाल पर छोड़ दिया. कोई पूछने तक नहीं आया. वह राज्य और देश का नाम तीरंदाजी के क्षेत्र में रोशन करना चाहता है. इसके लिए उसे सरकारी मदद की जरूरत है. दीपक ने राज्य सरकार से बोकारो में प्रैक्टिस के लिए बेहतर ग्राउंड और सरकारी नौकरी की मांग की है.

    दीपक एआई यूनिवर्सिटी खेल-2017 में प्रथम, 39वीं जूनियर नेशनल आर्चरी चैंपियनशिप-2016 में प्रतिभागी, 37वें सब जूनियर नेशनल आर्चरी चैंपियनशिप 2016 में द्वितीय, विनोबा भावे यूनिवर्सिटी 2017 में प्रतिभागी, झारखंड ओलंपिक एसोसिएशन मेरिट सर्टिफिकेट-2019 में ब्रांच मेडल जीत चुका है.

    Tags: Archery, Bokaro news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर