होम /न्यूज /झारखंड /भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के विरोध में एकजुट हुआ विपक्ष!, चार मई को रहेगा झारखंड बंद

भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के विरोध में एकजुट हुआ विपक्ष!, चार मई को रहेगा झारखंड बंद

केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के खिलाफ आंदोलन को झारखंड में धारदार बनाने के लिए सोमवार को कई विपक्षी दलों की झारखंड विकास मोर्चा कार्यालय में सर्वदलीय बैठक हुई. बैठक में वामपंथी दलों, राजद, जदयू, झाविमो, सपा सहित कई छोटे-बड़े दलों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया.

केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के खिलाफ आंदोलन को झारखंड में धारदार बनाने के लिए सोमवार को कई विपक्षी दलों की झारखंड विकास मोर्चा कार्यालय में सर्वदलीय बैठक हुई. बैठक में वामपंथी दलों, राजद, जदयू, झाविमो, सपा सहित कई छोटे-बड़े दलों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया.

केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के खिलाफ आंदोलन को झारखंड में धारदार बनाने के लिए सोमवार को कई विपक् ...अधिक पढ़ें

    केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के खिलाफ आंदोलन को झारखंड में धारदार बनाने के लिए सोमवार को कई विपक्षी दलों की झारखंड विकास मोर्चा कार्यालय में सर्वदलीय बैठक हुई. बैठक में वामपंथी दलों, राजद, जदयू, झाविमो, सपा सहित कई छोटे-बड़े दलों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया.

    बैठक में आगामी चार मई को भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के खिलाफ बुलाई गई झारखंड बंद को ऐतिहासिक बनाने की कार्य योजना बनाई गई. बैठक के बारे में जानकारी देते हुए राज्य के पूर्व मंत्री और झारखंड जनाधिकार मंच के नेता बंधु तिर्की ने कहा कि बैठक में सभी बंद समर्थक दलों को अलग-अलग क्षेत्रों की कमान सौंपी जा गई है ताकि चार मई के बंद को व्यापक और सफल बनाया जा सके.

    आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

     

    Tags: Babulal marandi

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें