Bokaro News: आकाशीय बिजली गिरने से 2 महिला समेत तीन मनरेगा मजदूरों की मौत, चार गंभीर

बोकारो जिले में वज्रपात से दो महिलाओं समेत तीन मनरेगा मजदूरों की मौत हो गई.

बोकारो जिले में वज्रपात से दो महिलाओं समेत तीन मनरेगा मजदूरों की मौत हो गई.

बोकारो जिले में उग्रवाद प्रभावित गोमिया प्रखंड के चुटे पंचायत अंतर्गत दण्डरा गांव में बिजली गिरने से तीन नरेगा मज़दूरों की मौत हो गई, जबकि चार अन्य घायल हैं.

  • Last Updated: May 21, 2021, 12:50 AM IST
  • Share this:

मृत्युंजय कुमार, बोकारो. झारखंड के बोकारो जिले में उग्रवाद प्रभावित गोमिया प्रखंड के दण्डरा गांव में वज्रपात से तीन नरेगा मज़दूरों की मौत हो गई, जबकि चार घायल हैं. जानकारी के अनुसार, दण्डरा गांव के चैयाटांड निवासी तुलसी महतो 50 वर्ष, उसकी पत्नी कनकी देवी 45 वर्ष और कौशल्या देवी 55 वर्ष की आकाशीय बिजली गिरने से मौत हो गई. इसके साथ ही चार अन्य मज़दूर घायल हो गए.

इस संबंध में बताया गया कि तुलसी महतो नरेगा योजना अंतर्गत कुआं निर्माण का कार्य करा रहा था, इसी बीच अचानक मौसम का मिजाज बदला और बारिश होने लगी. वहां पर काम कर रहे सभी मजदूर एक मचान के नीचे बचने के लिए चले गए. इसी दौरान तेज आंधी और बारिश के बीच जोर से बादल गरजे और बिजली गिरी. जिसमें तीनों मजदूरों की मौत हो गई, जबकि 4 अन्य घायल हो गए. सभी घायलों को गोमिया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है. घायलों में विशेश्वर महतो, किशुन सिंह, लालमन और महेश महतो शामिल हैं.

इस संबंध में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी हेलन बारला ने बताया कि सभी घायल खतरे से बाहर हैं. इस मौके पर विधायक गोमिया विधायक लंबोदर महतो, बीडीओ कपिल कुमार, थाना प्रभारी आशीष खाखा सहित अन्य लोग अस्पताल पहुंचे और घायलों का जायजा लिया. प्रशासन तीनों मृतकों के पोस्टमार्टम की तैयारी में जुट गया. थाना प्रभारी ने बताया कि मृतकों की पंचनामा तैयार किया जा रहा है ताकि उनका पोस्टमार्टम कराया जा सके. विधायक डॉक्टर लंबोदर महतो ने घायलों के बेहतर इलाज की व्यवस्था करने की बात कही है साथ ही कहा है मृतक के परिजनों को सरकार के द्वारा मुआवजा भी दिया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज