Home /News /jharkhand /

yamraj temple every year crowd of devotees gathers on last friday of sawan jhnj

यमराज का अनोखा मंदिर, हर साल सावन के अंतिम शुक्रवार को उमड़ती है श्रद्धालुओं की भीड़

बोकारो के चास में स्थित यमराज मंदिर 80 साल पुराना है.

बोकारो के चास में स्थित यमराज मंदिर 80 साल पुराना है.

Bokaro News: बोकारो के चास में स्वामी विवेकानंद रोड पर भगवान धर्मराज यानी यमराज का मंदिर है. हर साल सावन के अंतिम शुक्रवार को यहां हजारों श्रद्धालु पूजा करने पहुंचते हैं. ये मंदिर 80 साल पुराना है. ऐसा कहा जाता है कि यहां मांगी गई हर मुराद पूरी होती है.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट- मृत्युंजय कुमार

बोकारो. देवी- देवताओं की मंदिर में पूजा आप अक्सर देखते होंगे. लेकिन अगर मंदिर बनाकर धर्मराज यानी यमराज की पूजा की जा रही हो तो आपके लिए यह जरूर चौंकाने वाली खबर हो सकती है. बोकारो के चास में वर्षों से ऐसा होता आ रहा है. बोकारो के चास स्थित के स्वामी विवेकानंद रोड स्थित भगवान धर्मराज यानी यमराज मंदिर में पूजा अर्चना विधिवत रूप से की जाती है. यहां हजारों श्रद्धालु अपनी मन्नत पूरी होने तथा मन्नत मांगने के लिए पहुंचते हैं. इस मंदिर में 80 सालों से सावन के अंतिम शुक्रवार को पूजा अर्चना की जाती है.

मंदिर समिति के सदस्य सुरभि देवी ने बताया कि इस मंदिर में कई सालों से भगवान धर्मराज यानी यमराज देव की पूजा की जाती है. भगवान यमराज की पूजा अर्चना करने से घर-परिवार के सदस्यों की आयु बढ़ती है. उन्होंने बताया कि इस मंदिर में सिर्फ यहां के लोग ही नहीं, बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों से भी लोग पूजा करने आते हैं. यहां जो कोई मन्नत मांगता है, उनकी मन्नत जरूर पूर्ण होती है. मन्नत पूर्ण होने पर मन्नत को चुकाने के लिए लोग यहां आते हैं. यहां मन्नत पूरी होने के बाद बकरे की बलि दी जाती है.

मंदिर से लोगों की आस्था जुड़ी हुई है. बोकारो के चास में हर साल सावन के अंतिम शुक्रवार को भगवान यमराज के जयघोष से पूरा इलाका गूंज उठता है.

Tags: Bokaro news, Jharkhand news

अगली ख़बर