झारखंड: महिलाओं की सुरक्षा के लिए सार्वजनिक स्थलों पर लगेंगे सीसीटीवी कैमरे

झारखंड के शहरों में सार्वजनिक जगहों पर सीसीटीवी कैमरे लगेंगे.
झारखंड के शहरों में सार्वजनिक जगहों पर सीसीटीवी कैमरे लगेंगे.

झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) ने प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा के लिए सार्वजनिक स्थलों पर सीसीटीवी कैमरे (CCTV cameras) लगाने के का फैसला किया है. साथ ही पुलिस प्रदेश में अपराध(Crime) को रोकने के लिए कई तरह के अभियान शुरू करेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 27, 2020, 7:33 PM IST
  • Share this:
रांची. प्रदेश में महिलाओं को सुरक्षित (Female safety) माहौल देने को लेकर झारखंड पुलिस मुख्यालय (Jharkhand Police Headquarters) हर मुमकिन कोशिश में जुटा है, तो वहीं मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Chief Minister Hemant Soren) ने पुलिस की हर संभव मदद करने का भरोसा दिया है. पुलिस मुख्यालय ने सीएम के सामने महिला सुरक्षा को लेकर प्रदेश भर में सीसीटीवी कैमरे (Cctv Cameras) इंस्टॉल करने के साथ गश्ती के लिए वाहनों कि संख्या में इजाफा करना और साथ ही अन्य आधुनिक उपकरणों की खरीद पर सहमति देने की मांग की है.

महिला सुरक्षा को लेकर झारखंड पुलिस हर मुमकिन कोशिश में जुटी है. इसके तहत बीते 21अक्टूबर को सूबे में महिलाओं के लिए महिला हेल्प लाइन नंबर जारी किया गया था, जिसमें अब तक 108 मैसेज पुलिस को मिले है. जिसमें कुछ मामले ब्लैंक कॉल्स से रिलेटेड हैं. वहीं एक मामला अश्लील स्नैप से जुड़ा है. कुछ मामले यौन शोषण से जुड़े हैं.

रांची : सुखदेव नगर थाने के पास चाकू से गोदकर दिनदहाड़े हत्या, नाबालिग समेत 5 हिरासत में



मामले की जानकारी देते हुए सूबे के डीजीपी एमवी राव ने कहा की इन मैसेज कि मदद से जहां पुलिस घटनाओं के हॉट स्पॉट का खाका तैयार कर उस पर कार्य करेगी. वहीं इस तरह की घटनाए के बारे में पूरी रिपोर्ट पुलिस के पास रहेगी ताकी समय रहते उस बाबत बेहतर रोडमैप तैयार किया जा सके. डीजीपी ने बताया कि राज्य सरकार ने भी महिला सुरक्षा को लेकर हर संभव मदद का आश्वासन दिया है, जिससे पुलिस को काफी फायदा होगा.
बाइकर्स और नशे के खिलाफ चलेगा अभियान

प्रदेश भर में महिला सुरक्षा को लेकर झारखंड पुलिस कई तरह के अभियान भी चलाएगी. वहीं इसके तहत हर किसी को जवाबदेह बनाया जा रहा है. डीजीपी ने स्पष्ट कहा कि प्रदेश भर में नशे के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है और एक स्टेट लेवल टास्क फोर्स भी बनाई गई है, जो किसी भी थाना क्षेत्र में नशे को लेकर छापेमारी करेगी अगर इस दौरान किसी भी थाना क्षेत्र में नशे की खेप बरामद होती है तो थाना प्रभारी इसके लिए जवाबदेह होंगे.

टीनएजर्स को अपराध की दुनिया से दूर रखने के लिए रांची पुलिस ने खोला मॉडर्न बालमित्र थाना, बच्चों की होगी काउंसलिंग

ये अभियान 1 नवंबर से 14 नवंबर तक चलेंगे. वहीं हवाई फायरिंग और बाइकर्स गैंग को लेकर इलाके के डीएसपी को जवाबदेह बनाया गया है. इसके साथ ही अगर किसी जिले में किसी महिला कि संदेहास्पद मौत होती है तो जिले की एसपी जानकारी मिलने के साथ ही स्पॉट पर पहुंचेंगे और केस के डिस्पोजल तक इसकी मॉनिटरिंग करेंगे.

रेप के मामलों को दबाने वाले नपेंगे
इसके साथ ही पंचायत या किसी दबंग द्वारा अगर किसी दुष्कर्म की वारदात को दबाने की कोशिश की गई तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. साथ ही डीजीपी ने बाइकर्स गैंग को लेकर भी विशेष अभियान चलाने की बात पुलिस मुख्यालय के द्वारा कही गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज