चतरा में दो दिनों से लापता दो बच्चों की तालाब से मिली लाश, परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

दोनों बच्चे 3 अप्रैल से लापता थे.

दोनों बच्चे 3 अप्रैल से लापता थे.

Chatra News: 3 अप्रैल को दोपहर ढाई बजे तक दोनों बच्चे मोहल्ले में देखे गए. बच्चों को तीन बजे से ट्यूशन पढ़ना था. घर वापस नहीं आने पर परिजनों ने बच्चों को ढूंढ़ना शुरू किया, लेकिन पता नहीं चला.

  • Share this:

रिपोर्ट- अंकित कुमार

चतरा. झारखंड के चतरा के टंडवा ग्वाला टोली के रहने वाले दो बच्चों का शव घर से करीब 600 मीटर की दूरी पर तालाब से बरामद किया गया. दोनों बच्चे 3 अप्रैल की दोपहर से गायब थे. दोनों टंडवा डीएवी स्कूल की दूसरी कक्षा के छात्र थे. परिजनों ने दोनों की गुमशुदगी की जानकारी थाने में भी दी थी.

इधर, शव मिलने के बाद ग्रामीणों ने आशंका जाहिर की है कि दोनों बच्चों की हत्या की गई है. वहीं घटना की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को तालाब से बाहर निकला. ग्रामीण मौके पर डॉग स्क्वॉयड और फॉरेंसिक टीम मंगाने की बात पर अड़ गए. इसके बाद ही शव को पोस्टमॉर्टम के लिए ले जाने की बात कही. मृतकों में रामू यादव का बेटा विवेक कुमार (9) और ईश्वर यादव का पुत्र सुमित कुमार (10) शामिल था. विवेक तीन भाई-बहनों में सबसे बड़ा था, जबकि सुमित इकलौता बेटा था. रामू यादव स्वास्थ्यकर्मी है, जबकि ईश्वर यादव राज मिस्त्री का काम करता है.

3 अप्रैल को दोनों बच्चे ढाई बजे तक मोहल्ले में देखे गए थे. बच्चों को तीन बजे से ट्यूशन पढ़ना था. समय पर घर वापस नहीं आने के बाद परिजनों ने बच्चों को ढूंढ़ना शुरू किया, पर रविवार की रात तक उनका कोई सुराग नहीं मिला था. दोनों बच्चों का शव घर से 600 मीटर दूर एक तालाब से बरामद किया गया.
परिजनों की माने तो दोनों बच्चों के एक साथ पढ़ने से दोनों में काफी लगाव था. साथ पढ़ना और साथ खेलना, उनका हर दिन का रुटीन था. ऑनलाइन पढ़ाई होने के कारण बच्चे घर पर ही पढ़ाई कर रहे थे. इस वजह से परिजनों ने दोनों को ट्यूशन लगा रखा था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज