• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • झारखंड: खेत में पानी देखकर हल-बैल के साथ उतरे मंत्री, किसानों के साथ की धान रोपनी

झारखंड: खेत में पानी देखकर हल-बैल के साथ उतरे मंत्री, किसानों के साथ की धान रोपनी

मंत्री सत्यानंद भोक्ता अपने गांव में खुद हल-बैल से खेत जोतकर धान रोपनी की.

मंत्री सत्यानंद भोक्ता अपने गांव में खुद हल-बैल से खेत जोतकर धान रोपनी की.

सोमवार को चतरा स्थित अपने पैतृक गांव कारी में जब श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता (Satyanand Bhokta) अपने खेत में धान रोपनी करने उतरे, तो वहां ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठा हो गई. इस दौरान धान रोपनी के परंपरागत गीत पर भोक्ता किसानी का काम करते नजर आए.

  • Share this:

रांची. झारखंड के चतरा विधानसभा सीट से राजद के एक मात्र विधायक व मंत्री सत्यानंद भोक्ता (Satyanand Bhokta) हमेशा से ही अपने अलग अंदाज के लिये जाने जाते हैं. कभी खेत में तो कभी जंगल में, तो कभी गांव के बच्चों के बीच, सत्यानंद भोक्ता खुद को जमीन से जुड़ा हुआ नेता और किसान का बेटा मानते हैं. सोमवार को भोक्ता अपने गृह क्षेत्र में थे. लगातार हो रही बारिश के बाद जब राज्यभर के किसान धान का रोपा करने के लिये खेत में उतर चुके हैं, तब श्रम मंत्री भी खुद को ऐसा करने से रोक नहीं पाए. हल और बैल के साथ सूबे के श्रम मंत्री अपने खेत में पूरे जोश के साथ उतरे और काफी देर तक डटे रहे.

अपने पैतृक गांव कारी में जब श्रम मंत्री अपने खेतों में धान रोपनी कर रहे थे, तब वहां ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठा हो गई. धान रोपनी के परंपरागत गीत पर सत्यानंद भोक्ता अपने खेत में पसीना बहाते रहे. श्रम मंत्री ने इसको लेकर कहा कि किसान परिवार से आने की वजह से बचपन से ही कृषि क्षेत्र में दिलचस्पी रही है और खेतों में कार्य करता आया हूं. इसलिए हर साल धान की रोपनी के समय अपने पैतृक गांव पहुंचकर पहली रोपनी करता हूं. ऐसा करना ना सिर्फ उन्हें अच्छा लगता है बल्कि उन्हें अपनी माटी और संस्कृति से भी जोड़े रखता है.

इस दौरान प्रदेश के अन्नदाताओं से अपील करते हुए मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने कहा कि लोग खेती कर अपने-अपने गांव में अन्न का उपज बढ़ाएं. अगर उपज ज्यादा होगी तो महंगाई पर खुद-व-खुद रोक लगेगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज