Chatra News: कोराना जांच के लिए अस्पताल पहुंचा था फरार नक्सली, पुलिस ने 6 साल बाद दबोचा

गिरफ्तार नक्सली मनीष यादव पिछले 6 साल से फरार चल रहा था.

गिरफ्तार नक्सली मनीष यादव पिछले 6 साल से फरार चल रहा था.

Chatra News: एसपी को सूचना मिली थी कि नक्सली मनीष यादव सदर अस्पताल में कोरोना जांच के लिए पहुंचा हुआ है. इसी सूचना पर कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार किया गया.

  • Share this:
रिपोर्ट- सूर्यकांत

चतरा. झारखंड के चतरा में कोरोना जांच कराने आए नक्सली को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. पुलिस को 6 साल से गिरफ्तार नक्सली मनीष यादव की तलाश थी. उसकी गिरफ्तारी सदर अस्पताल से हुई. पुलिस के मुताबिक मनीष सबजोनल रैंक का नक्‍सली है. एसपी ऋषभ कुमार झा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई कर उसे गिरफ्तार किया गया.

एसपी को सूचना मिली थी कि नक्सली मनीष यादव सदर अस्पताल में कोरोना जांच के लिए पहुंचा हुआ है. इसी सूचना के आलोक सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अविनाश कुमार के नेतृत्व में धड़पकड़ को लेकर दल का गठन किया गया. गठित टीम ने मनीष को सदर अस्पताल से गिरफ्तार कर लिया. मनीष यादव कुंदा थानाक्षेत्र के ग्राम डुमरवार का रहने वाला है.

पुलिस के मुताबिक मनीष यादव पर कुंदा थाना में कांड संख्या 27/15, भादवि की धारा 120, विस्फोटक अधिनियम 3/4/5 एवं 17 सीएलए एक्ट के तहत मामला दर्ज है. गिरफ्तारी के बाद उसे कुंदा थाना ले जाया गया, जहां से पूछताछ के बाद उसे जेल भेज दिया गया.
सदर एसडीपीओ अविनाश कुमार ने बताया कि मनीष यादव के खिलाफ 13 नवंबर 2015 को क्षेत्र में पुलिस पेट्रोलिंग पार्टी को बड़ी क्षति पहुंचाने के उद्देश्य से विस्फोटक लगाने का मामला दर्ज है. इस मामले में कुल तीन लोगों को प्राथमिक अभियुक्त बनाया गया था. इसमें मनीष यादव के अलावा कुंदा थाना क्षेत्र के डुमरा गांव के रामप्रीत एवं रामस्वरूप पासवान का नाम शामिल था. रामप्रीत पासवान की मौत हो चुकी है, जबकि रामस्वरूप पासवान पहले से जेल में है. गिरफ्तार नक्सली मनीष यादव पिछले छह वर्षों से फरार चल रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज