कोयला वाहनों की टक्कर में खलासी की मौत, चालक गंभीर घायल

चतरा जिला में दर्दनाक सड़क हादसे में एक परिवार का चिराग दीपावली के दो दिन बाद ही बुझ गया. शनिवार को यहां अनियंत्रित कोयला वाहनों की टक्कर में एक खलासी की मौत हो गई जबकि चालक बुरी तरह से जख्मी हो गया. स्थानीय लोगों की तत्परता से घायल को 108 अम्बुलेंस की मदद से तुरंत सिमरिया के रेफरल अस्पताल पहुंचाया गया.

santosh | News18 Jharkhand
Updated: November 10, 2018, 6:49 PM IST
कोयला वाहनों की टक्कर में खलासी की मौत, चालक गंभीर घायल
भीषण दुर्घटना के बाद ट्रक में फंसा खलासी का शव
santosh | News18 Jharkhand
Updated: November 10, 2018, 6:49 PM IST
झारखंड के चतरा जिला में दर्दनाक सड़क हादसे में एक परिवार का चिराग दीपावली के दो दिन बाद ही बुझ गया. शनिवार को यहां अनियंत्रित कोयला वाहनों की टक्कर में एक खलासी की मौत हो गई जबकि चालक बुरी तरह से जख्मी हो गया. स्थानीय लोगों की तत्परता से घायल को 108 अम्बुलेंस की मदद से तुरंत सिमरिया के रेफरल अस्पताल पहुंचाया गया.

उधर घटना की सूचना मिलते ही सिमरिया थाना पुलिस दल बल के साथ मौके पर पहुंचकर वाहन में फंसे चालक के शव को बाहर निकालने के प्रयास में जुट गई. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार अनियंत्रित गति व वाहन में पर्याप्त लाइट नहीं होने के कारण दोनों वाहनों के बीच भीषण टक्कर हुई.

सिमरिया थाना क्षेत्र अंतर्गत एनएच 99 पर स्थित जबड़ा मोड़ इलाके में टंडवा थाना क्षेत्र अंतर्गत संचालित आम्रपाली कोल परियोजना से कोयला लेकर एक हाईवा गाड़ी लातेहार स्थित टोरी जा रहा था. इसी दौरान जबड़ा मोड़ इलाके में खड़े एक अन्य कोल वाहन में उसने पीछे से जोरदार टक्कर मार दी.

टक्कर इतनी जोरदार था कि वाहन में बैठे खलासी मनोज कुमार की मौके पर ही मौत हो गई. वहीं चालक सतेंद्र कुमार महतो गंभीर रूप से घायल हो गया.  मृतक खलासी और चालक दोनों टंडवा थाना क्षेत्र के दुंदवा गांव के रहने वाले हैं. सिमरिया अस्पताल से चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद चालक को बेहतर इलाज के लिए रिम्स रेफर कर दिया.

यह भी पढ़ें - CM रघुवर दास और रतन टाटा ने किया कैंसर अस्पताल का शिलान्यास, अत्याधुनिक सुविधाओं से होगा लैस

यह भी पढ़ें - इसरायल से प्रशिक्षण लेकर लौटे किसान, कहा आधुनिक तकनीक से कृषि क्षेत्र में होगा विकास
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर