चतरा में उग्रवादियों का उत्पात, लेवी के लिए कोयला लदे 5 हाइवा को फूंका

आशंका है कि टीएसपीसी के उग्रवादियों ने लेवी के लिए घटना को अंजाम दिया.

आशंका है कि टीएसपीसी के उग्रवादियों ने लेवी के लिए घटना को अंजाम दिया.

Chatra News: उग्रवादियों का एक सशस्त्र दस्ता लारंगा-मांडर मुख्य पथ पर घात लगाकर बैठा था. जैसे ही कोयले की खेप लेकर पांचों हाइवा वहां पहुंचा, उग्रवादियों ने चालक एवं उपचालक को उतारकर सभी हाइवा में आग लगा दी.

  • Share this:
इनपुट- अंकित केशरी

चतरा. झारखंड के चतरा में उग्रवादियों (Insurgents) ने सोमवार रात जमकर उत्पात मचाया. जिले के टंडवा इलाके में उग्रवादियों ने कोयला लदे पांच हाइवा को आग के हवाले कर दिया. घटना लारंगा-मांडर गांव के बीच मुख्य पथ की है. पांचों हाइवा टंडवा स्थित सीसीएल की आम्रपाली परियोजना से कोयला लेकर पिपरवार सीएचपी साइडिंग जा रहे थे. आशंका है कि लेवी नहीं मिलने से नाराज तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी (TSPC) के उग्रवादियों ने घटना को अंजाम दिया. हालांकि घटनास्थल पर पर्चा आदि नहीं मिला है. पुलिस घटनास्थल पर पहुंच कर मामले की छानबीन में जुटी है.

जानकारी के मुताबिक उग्रवादियों का एक सशस्त्र दस्ता लारंगा-मांडर मुख्य पथ पर पहुंचा और घात लगाकर बैठा गया. जैसे ही कोयले की खेप लेकर पांचों हाइवा वहां पहुंचा, उग्रवादियों ने एक-एक कर सभी को रोका और चालक एवं उपचालक को उतारकर टंकी से डीजल निकाल कर आग लगा दी. सभी हाइवा जय मां अंबे कोल ट्रांसपोर्टिंग कंपनी के बताए गये हैं.

टंडवा थानाप्रभारी प्रमोद पांडेय ने कहा कि मामले की पड़ताल की जा रही है. फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि किस उग्रवादी संगठन ने घटना को अंजाम दिया.
इससे पहले 13 अप्रैल की रात को आम्रपाली कोल परियोजना से कोयला ढुलाई में लगे दो हाइवा को उग्रवादियों ने आग के हवाले कर दिया था. राहम बायपास सड़क पर दो दर्जन उग्रवादियों ने कोयला ढुलाई में लगे दो हाइवा को रोका और चालकों को नीचे उतारकर गाड़ी से ही डीजल निकाल उसमें आग लगा दी थी. घटना के बाद उग्रवादियों ने मौके पर एक पर्चा भी छोड़ा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज