लाइव टीवी

डैम को है एक अदद गेट का इंतजार, सिंचाई की सुविधा से सैकड़ों किसान वंचित

Neelkamal | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: May 31, 2017, 6:25 PM IST
डैम को है एक अदद गेट का इंतजार, सिंचाई की सुविधा से सैकड़ों किसान वंचित
पलामू - वर्षों से अधूरा पड़ा है पांकी बराज डैम का निर्माण कार्य

पलामू के पांकी में पांकी बराज डैम का निर्माण कार्य वर्षों से अधूरा पड़ा है . करोड़ों रुपए खर्च करने के बाद भी डैम का निर्माण कार्य अभी तक पूरा नहीं किया जा सका.

  • Share this:
पलामू के पांकी में पांकी बराज डैम का निर्माण कार्य वर्षों से अधूरा पड़ा है . करोड़ों रुपए खर्च करने के बाद भी डैम का निर्माण कार्य अभी तक पूरा नहीं किया जा सका. डैम का निर्माण हो जाने से सैकड़ों गांवों के हजारों एकड़ खेतों की पटवन होती और दूसरे विधानसभा क्षेत्रों के किसानों को भी इसका लाभ मिलता.

दरअसल झारखंड राज्य गठन के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के कार्यकाल में करीब एक अरब की लागत से पांकी बराज डैम का निर्माण कार्य शुरु हुआ था. अमानत नदी पर बन रहे डैम निर्माण का कार्य लगभग 75 प्रतिशत पूरा भी हो गया. मगर फिर विभागीय लापरवाही व राजनीतिक दबाव के कारण अचानक कार्य रोक दिया गया.

बता दें कि बराज में सिर्फ फाटक लगाने का कार्य बाकी रह गया है. इसे लेकर ग्रामीणों में नाराजगी देखने को मिल रही है.  लोगों का कहना है कि पांकी बराज बन गया होता तो लोग पलायन नहीं करते.

डैम के बन जाने से पांकी, तरहसी, मनातू प्रखंड व छतरपुर विधानसभा के पाटन किशनपुर समेत कई गांवों के खेतों में पानी पहुंच जाता. मगर गेट नहीं लगाये जाने के कारण पानी का ठहराव नहीं हो पाता है. किसानों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है.

बता दें कि अब पांकी बराज डैम की मशीनें खराब होने लगी हैं. ऐसे में अधूरे निर्माण का कार्य पूरा कराया जाना बेहद जरूरी है. पांकी के मुखिया का कहना है कि चतरा सांसद सुनील सिंह से हाल ही में मांग की गई है कि डैम का गेट जल्द से जल्द लगवाया जाये ताकि किसानों के खेतों को पानी मिल सके.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गढ़वा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 31, 2017, 6:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर