लाइव टीवी

बैद्यनाथ मंदिर की व्यवस्था में प्रशासन का दखल, सीएम से मिलेगा प्रतिनिधि मंडल

Rituraj Sinha | News18 Jharkhand
Updated: September 8, 2018, 12:14 PM IST
बैद्यनाथ मंदिर की व्यवस्था में प्रशासन का दखल, सीएम से मिलेगा प्रतिनिधि मंडल
पं.दुर्लभ मिश्र,वरिष्ठ उपाध्यक्ष,अखिल भारतीय तीर्थपुरोहित महासभा

अखिल भारतीय तीर्थपुरोहित महासभा का आरोप है कि देवघर मंदिर की आंतरिक व्यवस्था, पूजा विधि और यहां की धार्मिक परंपरा में अधिकारियों द्वारा मनमाने तरीके से अनावश्यक हस्तक्षेप किया जा रहा है. यह भारतीय संविधान द्वारा प्रदत्त धार्मिक स्वतंत्रता के मौलिक अधिकार के हनन के समान है.

  • Share this:
देवघर के बाबा बैद्यनाथ मंदिर में अव्यवस्था के खिलाफ अखिल भारतीय तीर्थपुरोहित महासभा ने कड़ा विरोध दर्ज कराया है. महासभा का आरोप है कि देवघर मंदिर की आंतरिक व्यवस्था, पूजा विधि और यहां की धार्मिक परंपरा में अधिकारियों द्वारा मनमाने तरीके से अनावश्यक हस्तक्षेप किया जा रहा है. यह भारतीय संविधान द्वारा प्रदत्त धार्मिक स्वतंत्रता के मौलिक अधिकार के हनन के समान है.

एक प्रेसवार्ता आयोजित कर अखिल भारतीय तीर्थ पुरोहित महासभा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष पं. दुर्लभ मिश्र ने मंदिर प्रबंधन के लिये गठित श्राइन बोर्ड के अधिकारों का हवाला देते हुए बताया कि मंदिर की धार्मिक और पौराणिक परंपरा के साथ छेड़छाड़ या उसमें हस्तक्षेप करने का अधिकार किसी को नहीं है. दुर्लभ मिश्र ने कहा कि चूंकि झारखंड के मुख्यमंत्री श्राइन बोर्ड के अध्यक्ष होते हैं. इसलिए महासभा का एक प्रतिनिधि मंडल उनसे मिल कर अपनी आपत्ति दर्ज कराएगा.

अखिल भारतीय तीर्थपुरोहित महासभा का कहना है कि अगर इसके बाद भी स्थानीय अधिकारियों का रवैया नहीं बदला तो किसी भी अधिकारी को मंदिर परिसर में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा. महासभा ने श्रावणी मेला के आयोजन पर बड़ी सरकारी राशि के खर्च की CAG से जांच की मांग मुख्यमंत्री से करने का भी मन बनाया है. इस अवसर पर अखिल भारतीय तीर्थ पुरोहित महासभा के महामंत्री सहित स्थानीय तीर्थ पुरोहित मौजूद रहे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देवघर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 8, 2018, 11:20 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर