• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • झारखंड: महज 2 दिन में ही बाबा बैद्यनाथ का दर्शन हुआ बंद, नहीं बन पा रहा ई-पास

झारखंड: महज 2 दिन में ही बाबा बैद्यनाथ का दर्शन हुआ बंद, नहीं बन पा रहा ई-पास

थंडरिंग की वजह से वेबसाइट में आई खराबी के कारण बाबा बैद्यनाथ मंदिर का दर्शन रूक गया है.

थंडरिंग की वजह से वेबसाइट में आई खराबी के कारण बाबा बैद्यनाथ मंदिर का दर्शन रूक गया है.

Baidyanath Mandir: बैद्यनाथ मंदिर के दर्शन के लिए बनाए गए वेबसाइट http://jharkhanddarshan.nic.in ने कार्य करना बंद कर दिया है. नतीजा मंदिर दर्शन-पूजन के लिए ई-पास जारी नहीं हो पा रहे हैं.

  • Share this:

    रिपोर्ट- मनीष दुबे

    देवघर. 148 दिनों बाद बाबा बैद्यनाथ मंदिर (Baba Baidyanath Mandir) का पट खुलने से श्रद्धालुओं में काफी खुशी का माहौल था. पंडा समाज और मंदिर पर आश्रित लोगों में भी काफी खुशी देखी जा रही थी. लेकिन महज दो दिन में ही ऑनलाइन ईपास का साइट थंडरिंग की वजह से बंद हो गया. इससे ईपास बनाने में दिक्कत आ रही है. जानकारी के अनुसार, बीते दिन जोरदार थंडरिंग के कारण रांची स्थित राज्य स्तरीय एनआईसी का नेटवर्क सेंटर कार्य करना बंद कर दिया है. इसके कारण बाबा बैद्यनाथ मंदिर के दर्शन के लिए बनाए गए वेबसाइट http://jharkhanddarshan.nic.in कार्य करना बंद कर दिया है. फलस्वरूप बाबा बैद्यनाथ मंदिर में दर्शन पूजन के लिए ई-पास जारी नहीं हो पा रहे हैं.

    राज्य स्तर से इंजीनियर्स की टीम के द्वारा सर्वर को ठीक करने का प्रयास किया जा रहा है. जैसे ही सर्वर को ठीक कर लिया जाएगा, ईपास के लिए http://jharkhanddarsh.nic.in काम करने लगेगा एवं e-pass भी जारी होने लगेंगे.

    विदित हो कि आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से जारी निर्देश के आलोक में ईपास के माध्यम से ही बाबा बैद्यनाथ मंदिर में दर्शन सुलभ है. वहीं जिला सूचना एवं जनसंपर्क पदाधिकारी रवि कुमार द्वारा जानकारी दी गई कि टेंडरिंग की वजह से वेबसाइट क्रैश कर गया है. इसकी मरम्मत के लिए उच्च स्तरीय इंजीनियर लगे हुए हैं. जल्द ही वेबसाइट की मरम्मत कर ली जाएगी. इसके बाद श्रद्धालु ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर बाबा बैद्यनाथ का दर्शन कर सकेंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज