होम /न्यूज /झारखंड /मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना: देवघर के एक लाख से अधिक किसानों का हुआ रजिस्ट्रेशन, जानें आवेदन की आखिरी तारीख

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना: देवघर के एक लाख से अधिक किसानों का हुआ रजिस्ट्रेशन, जानें आवेदन की आखिरी तारीख

CM सुखाड़ राहत योजना के तहत किसानों को मिलेगा लाभ

CM सुखाड़ राहत योजना के तहत किसानों को मिलेगा लाभ

Drought: झारखंड के 22 जिलों को राज्य सरकार ने सूखा ग्रसित घोषित किया है. प्रभावित जिले के किसानों को रजिस्ट्रेशन करने क ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट : परमजीत कुमार

    देवघर. झारखंड के 22 जिलों को राज्य सरकार ने सूखा ग्रसित घोषित किया है. मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत सूखा प्रभावित किसानों को मुआवजा देने की तैयारी चल रही है. इसके लिए प्रभावित जिले के किसानों को रजिस्ट्रेशन करने को कहा गया है. इस मामले में देवघर जिला अभी तक अव्वल है. पूरे प्रदेश हुए 7 लाख 20 हजार 834 रजिस्ट्रेशन में देवघर के 1 लाख 2 हजार 134 किसान रजिस्ट्रर्ड हैं. इस सूची में दूसरे नंबर पर गिरिडीह और तीसरे नंबर पर पलामू जिला है. वहीं, कोडरमा अंतिम पायदान पर है. यह आंकड़ा 4 दिसंबर तक का है. किसान 15 दिसंबर तक रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं.

    बता दें कि देवघर जिले के सभी 10 प्रखंड सूखे की चपेट में थे. इस बार कम बारिश के कारण किसानों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ा है. इस योजना के तहत राज्य सरकार प्रत्येक किसानों के बैंक खाते में 3,500 रुपये देगी. वैसे किसान इस योजना का लाभ ले सकते हैं, जिनके पास दो डिसमिल भी जमीन है. कृषि विभाग खेतिहर मजदूर व बटाई में काम करने वाले किसानों का भी ख्याल रख रहा है. उन्हें भी इस योजना से जोड़ने के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू किया है.

    जानें लाभुकों के खाते में कब आएगा पैसा

    जिला कृषि पदाधिकारी कमल किशोर कुजूर का कहना है कि मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत किसानों से रजिस्ट्रेशन कराया जा रहा है. अभी तक सबसे ज्यादा रजिस्ट्रेशन देवघर जिले से किया गया है. कृषक मित्रों के द्वारा किसानों का वेरिफिकेशन करके डाटा रांची भेजा जाएगा. उसके बाद लाभुक के खाते में पैसा जमा किया जाएगा.

    रजिस्ट्रेशन की ब्योरा

    देवघर-1,02134 किसान, गिरिडीह-79,056 किसान, पलामू- 72,741 किसान, दुमका- 63,669 किसान, गढ़वा- 58,563 किसान, गोड्डा- 58,868 किसान, धनबाद- 31,535 किसान, सरायकेला- 27,961 किसान, हजारीबाग- 27,089 किसान, पाकुड़- 26,797 किसान, रांची- 25,720 किसान, जामताड़ा- 20,479 किसान, लातेहार- 16,470 किसान, रामगढ़- 16,453 किसान, बोकारो- 16,306 किसान, पश्चिम सिंहभूम- 14,170 किसान, गुमला- 13,998 किसान, चतरा- 13,185 किसान, साहिबगंज- 12,487 किसान, लोहरदगा- 12,312 किसान, खूंटी- 7,724 किसान, कोडरमा- 7,127 किसान

    Tags: Deoghar news, Drought, Jharkhand Government

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें