पल भर में अकाउंट साफ कर देने वाले 11 साइबर अपराधी गिरफ्तार, कैश और बैंकिंग दस्तावेज बरामद

पुलिस के मुताबिक गिरोह के पकड़े गए सदस्य बैंक अधिकारी बनकर लोगों के खाते से रकम ट्रांसफर कर ठगी की वारदात को अंजाम देत थे
पुलिस के मुताबिक गिरोह के पकड़े गए सदस्य बैंक अधिकारी बनकर लोगों के खाते से रकम ट्रांसफर कर ठगी की वारदात को अंजाम देत थे

गिरफ्तार आरोपियों के पास से पुलिस ने 30 हजार कैश, 22 मोबाइल फोन, 36 सिम कार्ड, 14 बैंक पासबुक, 14 ATM कार्ड, KYC अपडेट के दस्तावेज, एक चेकबुक, ई-वॉलेट और एक लैपटॉप बरामद किया है

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2020, 9:19 PM IST
  • Share this:
देवघर. झारखंड के देवघर (Deoghar) में लोगों से ठगी करने वाले साइबर अपराधियों (Cyber Criminals) के बड़े गिरोह का पर्दाफाश हुआ है. पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर जसीडीह और देवीपुर थाना क्षेत्र में अलग-अलग जगहों पर छापेमारी कर 11 साइबर अपराधियों (Cyber Fraud) को गिरफ्तार किया है. आरोपियों के पास से पुलिस ने 30 हजार कैश, 22 मोबाइल फोन, 36 सिम कार्ड, 14 बैंक पासबुक, 14 ATM कार्ड, KYC अपडेट के दस्तावेज, एक चेकबुक, ई-वॉलेट और एक लैपटॉप बरामद किया है.

पुलिस ने दबिश देकर जसीडीह थाना क्षेत्र से छह साइबर अपराधियों को धर दबोचा है. इनके नाम रोहित दास, अजीत दास, रंजीत कुमार दास, उज्जवल कुमार दास, राहुल और सनोज दास हैं. जबकि देवीपुर थाना क्षेत्र में विभिन्न जगहों से अनिल दास, किशन दास, मिथुन दास, गौतम दास, संजय कुमार दास नाम के शातिरों को गिरफ्तार किया गया है.





पुलिस के मुताबिक गिरोह के शातिर सदस्य बैंक अधिकारी बनकर लोगों के खाते से रकम ट्रांसफर कर ठगी की वारदात को अंजाम देत थे. देवघर के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अश्विनी कुमार सिन्हा ने बताया कि गिरफ्तार साइबर अपराधी लगातार लोगों को फोन कर उन्हें अपना शिकार बना रहे थे. उन्होंने बताया कि जसीडीह और देवीपुर से गिरफ्तार किए गए यह सभी आरोपी टीनएजर (युवा) हैं, जो चिंता का विषय है. पुलिस इनसे पूछताछ कर इनके गिरोह और अपराध करने के तरीके के बारे में जानकारी जुटा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज