ICICI बैंक फ्रॉड मामला: जामताड़ा विधानसभा चुनाव लड़ने वाला निकला साइबर अपराधी, चार गिरफ्तार
Deoghar News in Hindi

ICICI बैंक फ्रॉड मामला: जामताड़ा विधानसभा चुनाव लड़ने वाला निकला साइबर अपराधी, चार गिरफ्तार
आईसीआईसीआई बैंक फ्रॉड मामले अब तक 16 साइबर अपराधी गिरफ्तार हो चुके हैं.

पकड़े गए साइबर अपराधियों में साल 2019 में जामताड़ा विधानसभा का चुनाव लड़ने वाला अनवर अंसारी भी शामिल है.

  • Share this:
देवघर. झारखंड में देवघर पुलिस ने आईसीआईसीआई बैंक फ्रॉड मामले में सीएसपी संचालक सहित चार अपराधियों को गिरफ्तार किया है. पकड़े गए साइबर अपराधियों में साल 2019 में जामताड़ा विधानसभा का चुनाव लड़ने वाला अनवर अंसारी भी शामिल है.

दरअसल, पूरे देश में आईसीआईसीआई बैंक के 70 से अधिक ग्राहकों के खाता से साइबर अपराधियों द्वारा तकरीबन 1 करोड़ 12 लाख रुपये की ठगी कर ली गई थी. बैंक की देवघर शाखा द्वारा इस संबंध में देवघर साइबर थाना में इसी माह की 11 तारीख को मामला दर्ज कराया गया था. देवघर पुलिस इस मामले में पहले ही 12 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार कर चुकी है. इसी मामले में देवघर पुलिस को अब एक और बड़ी सफलता हाथ लगी है.

अब तक 16 साइबर अपराधी गिरफ्तार
गिरफ्तार अपराधियों से मिले इनपुट के आधार पर पुलिस ने जामताड़ा जिला के नारायणपुर थाना क्षेत्र से 4 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इनके पास से 8 मोबाइल फोन, 4 सिम कार्ड, 9 एटीएम कार्ड, 5 चेकबुक और 14 पासबुक बरामद किए हैं. इस तरह बैंक फ्रॉड मामले में देवघर पुलिस 16 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार कर चुकी है.



अनवर अंसारी 2019 में जामताड़ा से लड़ चुका है विधानसभा चुनाव


देवघर साइबर थाना के इंस्पेक्टर कलीम अंसारी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए सभी साइबर अपराधियों का आपराधिक इतिहास रहा है. इनमें से एक अनवर अंसारी 2019 में जामताड़ा से विधानसभा चुनाव भी लड़ चुका है और अभी सीएसपी संचालक है. अनवर अंसारी ग्राम मदनाडीह थाना नारायणपुर का रहने वाला है. पुलिस फिलहाल इनसे कड़ी पूछताछ के आधार पर पूरे गैंग तक पहुंचने की कोशिश कर रही है.

इससे पहले 15 मई को इस फ्रॉड मामले में शामिल 8 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया था, जिनके पास से पुलिस ने 1 लाख 20 हजार नकद सहित 29 मोबाइल फोन, 15 सिम कार्ड, 53 ATM कार्ड, 21 ब्लेंक एटीएम कार्ड, एक क्लोनिंग मशीन और एक लैपटॉप बरामद किया था. गिरफ्तारों में देवघर के 6 जबकी दुमका और बिहार के बांका जिला के 1-1 अपराधी थे. वहीं, 19 मई को गिरफ्तार 4 साइबर ठगों में दो गिरिडीह जिला के रहने वाले थे जो आपस में बाप-बेटा हैं जबकि दो देवघर के करौं प्रखंड के निवासी हैं. गिरिडीह निवासी दोनों बाप-बेटा दो अलग-अलग बैंक के सीएसपी संचालक हैं. पुलिस ने इनके पास से 60 हजार नकद, 80 सिम कार्ड, 46 एटीएम कार्ड, 11 पासबुक, 7 मोबाइल और एक लैपटॉप भी बरामद किया था.

ये भी पढ़ें- Lockdown: काला पानी से 180 प्रवासी श्रमिक चार्टर्ड विमान से रांची लौटे!

झारखंड: कंटेनमेंट जोन में नहीं मिलेगी कोई राहत, खुल सकते हैं धार्मिक स्थल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading