यौन शोषण मामले में प्रदीप यादव की बढ़ीं मुश्किलें, देवघर कोर्ट से अग्रिम जमानत याचिका खारिज

यौन शोषण मामले में जेवीएम विधायक प्रदीप यादव की अग्रिम जमानत याचिका खारिज हो गई है.

News18 Jharkhand
Updated: June 18, 2019, 1:45 PM IST
यौन शोषण मामले में प्रदीप यादव की बढ़ीं मुश्किलें, देवघर कोर्ट से अग्रिम जमानत याचिका खारिज
यौन शोषण मामले में प्रदीप यादव की अग्रिम जमानत याचिका खारिज (फाइल फोटो)
News18 Jharkhand
Updated: June 18, 2019, 1:45 PM IST
यौन शोषण मामले में जेवीएम विधायक प्रदीप यादव की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं. देवघर कोर्ट ने उनकी अग्रिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया है. कुछ दिन पहले जेवीएम विधायक ने इस मामले में देवघर साइबर थाने में अपना बयान दर्ज कराया था. अपनी ही पार्टी की महिला नेत्री ने उनपर यौन शोषण का आरोप लगाया है. इस सिलसिले में देवघर महिला थाने में केस दर्ज है.

लोकसभा चुनाव के दौरान लगाया आरोप

पूरा मामला लोकसभा चुनाव के दौरान की है. 3 मई को जेवीएम की महिला नेत्री ने प्रदीप यादव पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए देवघर महिला थाना में मामला दर्ज कराया. इसके बाद प्रदीप यादव को पार्टी महासचिव पद से इस्तीफा देना पड़ा. महिला नेत्री का आरोप है कि 20 अप्रैल को देवघर के मोहनपुर में महागठबंधन के सम्मेलन में शामिल होने के बाद प्रदीप यादव ने उन्हें फोनकर होटल बुलाया, जहां उनके साथ गलत काम किया.

प्रदीप यादव ने बताया राजनीतिक साजिश

वहीं अपने ऊपर लगे आरोप को खारीज करते हुए प्रदीप यादव का कहना है कि राजनीतिक साजिश के तहत उन्हें बदनाम करने की कोशिश की गई. उन्होंने पूरे प्रकरण पर उच्चस्तरीय और निष्पक्ष एजेंसी से जांच कराने की मांग की. उन्होंने देवघर के मुकेश पाठक को निशिकांत दुबे का करीबी बताते हुए, षड्यंत्र का मुख्य कर्ताधर्ता बताया. बता दें कि प्रदीप यादव इस बार महागठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर गोड्डा सीट से लोकसभा चुनाव लड़े. लेकिन बीजेपी के निशिकांत दुबे से हार गये. प्रदीप पोड़ैयाहाट से जेवीएम के विधायक हैं.

इनपुट- मनीष राज

ये भी पढ़ें- यौन उत्पीड़न मामले में प्रदीप यादव ने थाने में दर्ज कराया बयान
महागठबंधन प्रत्याशी पर छेड़खानी का केस दर्ज, पार्टी प्रवक्‍ता ने ही लगाया आरोप

 

 

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...