• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • कृष्णा बम नहीं चढ़ा पाईं बाबा बैद्यनाथ पर जल, रुआंसी होकर लौंटी

कृष्णा बम नहीं चढ़ा पाईं बाबा बैद्यनाथ पर जल, रुआंसी होकर लौंटी

सावन की पहली सोमवारी पर कृष्णा बम नहीं चढ़ा पाईं बाबा बैद्यनाथ पर जल

सावन की पहली सोमवारी पर कृष्णा बम नहीं चढ़ा पाईं बाबा बैद्यनाथ पर जल

कृष्णा बम हर साल की तरह इस बार भी सुल्तानगंज से जल भरकर सोमवार सुबह बाबा मंदिर पहुंची थीं, लेकिन निकास द्वार पर तैनात जवानों ने उन्हें अंदर जाने नहीं दिया. इससे उन्हें बाहर में ही जलार्पण करना पड़ा.

  • Share this:
    श्रावणी मेले के दौरान प्रत्येक सोमवार को डाक बम बनकर देवघर पहुंचने वाली मुजफ्फरपुर की कृष्णा बम पहली सोमवारी को बाबा बैद्यनाथ पर जलार्पण नहीं कर पाईं. उन्हें मंदिर प्रांगण में निकास द्वार के बाहर ही जल चढ़ाना पड़ा. दरअसल निकास द्वार पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उन्हें अंदर जाने से रोक दिया. इससे वह रुआंसी हो गईं. बाद में उन्होंने अपने साथ लाये दो छोटे- छोटे पात्रों से मंदिर प्रांगण में ही बाबा का पंचशूल देखकर जल अर्पित कर दिया. इस दौरान कृष्णा बम के साथ पहुंचे सुरक्षाकर्मियों ने विरोध भी जताया, लेकिन निकास द्वार पर तैनात जवानों ने एक नहीं सुनी.

    कृष्णा बम को नहीं मिला प्रवेश

    कृष्णा बम हर साल की तरह इस बार भी सुल्तानगंज से जल भरकर सोमवार सुबह बाबा मंदिर पहुंची थीं. उनके साथ डीएसपी स्तर के एक अधिकारी और कुछ सुरक्षाकर्मी चल रहे थे. बाबा मंदिर प्रांगण पहुंचने के बाद कृष्णा बम ने पहले की तरह निकास द्वार से मंझला खंड में लगे अरघे तक पहुंचने का प्रयास किया. उनके साथ चल रहे अधिकारी और सुरक्षकर्मी भी उधर से प्रवेश करने की कोशिश की. लेकिन निकास द्वार से होकर प्रवेश पर रोक होने की वजह से वहां तैनात रैफ के जवानों ने कृष्णा बम को अंदर जाने से रोक दिया. लिहाजा उन्हें मंदिर प्रांगण में ही जल अर्पित करना पड़ा.

    बाबा बैद्यनाथ धाम


    व्यवस्था के लिए बधाई

    सोमवार को जब कृष्णा बम बाबा मंदिर की तरफ बढ़ रही थीं. उसी दौरान कांवरिया पथ पर न्यूज-18 की टीम ने उनसे बात करने की कोशिश की. पैर में परेशानी के बावजूद उन्होंने बात की और कहा कि पिछले साल कृष्णा बम बनने का इरादा छोड़ दिया था, लेकिन स्थानीय डीएम की पहल पर फिर से शुरू किया. कांवरियों के लिए इस बार अच्छी व्यवस्था की गई है. इसके लिए रघुवर सरकार बधाई के पात्र हैं.

    इनपुट- मनीष राज

    ये भी पढ़ें- बैद्यनाथ धाम: पहली सोमवारी पर करीब 2 लाख कांवरियों ने किया जलाभिषेक

    देवघर के बाबा मंदिर को क्यों कहते हैं बैद्यनाथ धाम, पढ़ें

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज