लाइव टीवी

श्रावणी मेला में खो गए अपनों को ढूंढ रहे लोग

Manish Raj | News18 Jharkhand
Updated: September 14, 2018, 9:58 PM IST
श्रावणी मेला में खो गए अपनों को ढूंढ रहे लोग
अपने पिता का चित्र लेकर उनको गली-गली तलाशता युवक

श्रावणी मेला के दौरान भूले भटकों को जिला प्रशासन के उनके घर भेजने का काम किया है लेकिन आज ऐसे कई लोग बाबा नगरी में अब भी अपनों को ढूंढते हुए भटक रहे हैं.बिहार के कैमूर से आये अधेड़ को जहां उनका बेटा ढूंढ रहा है तो वहीं सदर अस्पताल में महिला वार्ड में पड़ी रुबी को घर जाने का आज भी इंतजार है.

  • Share this:
श्रावणी मेला के दौरान भूले भटकों को जिला प्रशासन के उनके घर भेजने का काम किया है लेकिन आज ऐसे कई लोग बाबा नगरी देवघर में अब भी अपनों को ढूंढते हुए भटक रहे हैं.बिहार के कैमूर से आये अधेड़ को जहां उनका बेटा ढूंढ रहा है तो वहीं सदर अस्पताल में महिला वार्ड में पड़ी रुबी को घर जाने का आज भी इंतजार है.उधर जिला जन संपर्क पदाधिकारी का दावा है कि पूरे श्रावणी मेला के दौरान जहां 28 सूचना केंद्रों के जरिये भूले-भटकों को उनके अपनों से मिलाया गया. वहीं आज भादों मेला में भी 3 सूचना केंद्र तो काम कर रहे हैं. जिला जनसंपर्क विभाग में ही सीधे सूचना दी जा सकती है.रुली घोष के मामले में जिला जनसंपर्क पदाधिकारी ने आश्वासन दिया कि उन्हें उनके घर पहुंचाया जाएगा.श्रावणी मेला के दौरान हजारों-हजारों भूले भटकों को सूचना केंद्रों ने उनके अपनों से मिलाया, जो बाकी हैं उनको भी मिलाया जाएगा.

बिहार के कैमूर का एक नौजवान कई दिनों से बाबा नगरी की खाक छान रहा है.इनका कहना है कि इनके अधेड़ उम्र के पिता कैमूर 40 श्रद्दालुओं के जत्थे के साथ यहां बाबा नगरी 21 अगस्त को पूजा अर्चना की जरुर लेकिन शिवगंगा के पास जो उनका साथ छूटा वो आज तक उनकी कोई खबर नहीं है. इस दौरान परिजनों ने पहले तो खुद ढूंढा लेकिन नहीं मिलने पर मेला क्षेत्र के सभी स्थायी थानों में अर्जी दी लेकिन आज कोई अता पता नहीं है.वहीं सदर अस्पताल के महिला वार्ड पर पड़ी महिला को अपनों की तलाश है.पश्चिम बंगाल के माल्दा की रहने वाली रुलू घोष भले ही कमजोर हो लेकिन इनकी मानसिक हालत फिलहाल सही हैं और अपना पता बता रही हैं.इनकी मानें तो अपनों के साथ बाबानगरी आई थी हालांकि एक सङ़क हादसे में इनके सर पर गंभीर चोट लगी.तीन दिनों तक यह बेहोश पड़ी रही.इन्हें यहां कौन लाया, इन्हें नहीं पता. बस अब यह घर जाना चाहती हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देवघर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 14, 2018, 9:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर